jan dhan yojana

{Latest Updates} – प्रधान मंत्री जन धन योजना PMJDY Jan Dhan Yojana की सम्पूर्ण जानकारी

jan dhan yojana

PMJDY | Pradhan Mantri Jan Dhan Yojana Detail in Hindi | क्या है प्रधान मंत्री जन धन योजना ? | इसके लाभ – www.pmjdy.gov.in Login Official Website


प्रधान मंत्री जन धन योजना क्या है ? Jan Dhan Yojana Information

हेलो मेरे प्यारे मित्रो। आज हम आपको इस आर्टिकल में भारत सरकार द्वारा चलाई गयी एक बहुत ही बड़ी योजना की जानकारी देने वाले है। जी हाँ, प्रधान मंत्री जन धन योजना PMJDY (pmjdy full form: Pradhan Mantri Jan Dhan Yojana : Prime Minister’s People’s Wealth Scheme) एक बहुत ही बड़ी और अभी तक की सफल योजनाओ में से एक है। यह योजना हमारे भारत देश के प्रधान मंत्री श्री नरेंद्र दामोदरदास मोदी जी के नाम पे चलाई गयी है।

  • यह योजना प्रधान मंत्री द्वारा सं २०१४ में लायी गयी थी। Launch Date of Pradhan Mantri Jan Dhan Yojana 28 August 2014 को यह योजना को मोदी जी ने देश वासियो के सामने लाया था।
  • Jan Dhan Yojana was Launched By Prime Minister Narendra Damodardas Modi in Year 2014 on 28th August.
  • यह योजना अभी भी कार्य में है और आजतक की सबसे सफल योजनाओ की सूची में आती है। इसकी अधिकारी वेबसाइट Official Website of Pradhan Mantri Jan Dhan Yojana www.pmjdy.gov.in है।

Jan Dhan Yojana in Hindi

मुख्या उदेश: Pradhan Mantri Jan Dhan Scheme Main Objective

प्रधान मंत्री जन धन योजना की सबसे पहली बार घोषणा हमारे प्रधानमंत्री द्वारा 15 August 2014 को की गयी थी। इसको उसी महीने 28 August 2014 को लागू में लाया भी गया था। इस योजना के अंतर्गत देख के गरीब लोगो के लिए बैंक खाते Jan Dhan Account खुलवाने की सुविधा प्रदान की गयी और वो भी बिना किसी राशि के यानी जीरो बैलेंस पे Zero Balance Account Facility। यह खाते बैंक में, पोस्ट ऑफिस में और राष्ट्रीयकृत बैंको (Nationalized Banks in India) में खोले गए।

इसकी कुछ सुविधाएं Jan Dhan Account Services/Facilities भी थी जैसे की जिन खातों से आधार कार्ड लिंक होगा उन्हें 6 महीने बाद 5000 रुपया की ओवरड्राफ्ट सुविधा मिलेगी और रुपे डेबिट कार्ड और रुपे किसान कार्ड में अंतर्निहित 1 लाख रुपये के दुर्घटना बीमा कवर की सुविधा प्रदान की गयी।


प्रधान मंत्री जान धन योजना के अंतर्गत लाभ

Jan Dhan Scheme के अंतर्गत सरकार द्वारा दिए गए लाभ की सूची:

  • इस योजना के तहत हर उस व्यक्ति का बैंक में बचत खाता खोला जायेगा जिसका बैंक में पहले कोई भी खाता ना रहा हो।
  • PMJDY खातों में कोई न्यूनतम शेष राशि बनाए रखने की आवश्यकता नहीं है। इस प्रकार, पीएमजेडीवाई खाते शून्य शेष के साथ खोले जा सकते हैं।
  • पीएमजेडीवाई खातों में जमा राशि पर ब्याज अर्जित किया जाता है।
  • RuPay डेबिट कार्ड पीएमजेडीवाई खाताधारक को प्रदान किया जाता है।
  • Jan Dhan Yojana Scheme में 1 लाख रुपए का दुर्घटना बीमा कवर की सुविधा भी है (नए पीएमजेडीवाई New PMJDY Account खातों में 2 लाख रुपए तक बढ़ाया गया है, 28.8.2018 के बाद खोले गया खातों के लिए सिर्फ)।
  • साथ ही साथ Rs. 30,000 का जीवन बीमा Life Insurance भी खाता धारको को मिलेगा जिन्होंने आपने खाते पहली बार 15/8/2014 से 31/8/2015 के बीच खोले होंगे।
  • ओवरड्राफ्ट (OD) में रु 10,000 की राशि उन खाताधारक के लिए जो उसके लिए पात्र है उपलब्ध हैं।
  • PMJDY Account खाते किसी भी बैंक शाखा या व्यवसाय संवाददाता के KIOSKS में खोले जा सकते हैं।

बुनियादी बचत बैंक जमा खाता (BSBDA – Basic Savings Bank Deposit Account) क्या है?

BSBDA खाता और PMJDY एक ही तरह के बचत खाते है जिसमे PMJDY खाते में कुछ अतिरिक्त सुविधाएं प्रदान की जाती है जिनके बारे में हम लोगो ने ऊपर बात की। सरकार ने इसी BSBDA खाते को कुछ सुविधाओं के साथ जोड़ के Pradhan Mantri Jan Dhan Yojana बचत खाता बनाया है। मगर यह जो सुविधएं pm jan dhan yojana खाते में है यही इसे इतना अनमोल बनाती है।

इस योजना के तहत कोई भी व्यक्ति एक से ज्यादा PMJDY Bank Account नहीं खुलवा सकता है । ऐसा करने पे उसको जुर्माना और जेल भी हो सकती है।


प्रधानमंत्री जन धन योजना से जुड़े कुछ महत्वपूर्ण तथ्य

  • जन धन अकाउंट Jan Dhan Account से एक महीने में 10,000 रुपया jan dhan yojana account limit से अधिक की राशि नहीं निकाली जा सकती।
  • PMJDY Scheme खाते में किसी भी एक समय पे Rs. 50,000 से अधिक रुपया की धनराशि नहीं जामा हो सकती।
  • इन खातों में किसी भी वित्य वर्ष में 1,00,000 लाख रुपया से अधिक की राशि नहीं जामा की जा सकती।
  • PMJDY Account खाता बिना KYC के भी खोला जा सकता है।
  • प्रधान मंत्री जान धन योजना के अंतर्गत आप संयुक्त खाता भी खुलवा सकते है।
  • आप अपने PMJDY account से सरकार की तरफ से दी जाने वाली सब्सीडीएस और DBT अनेक स्कीम्स की सीधे आने खाते में ले सकते है।
  • जान धन योजना अकाउंट Jan Dhan Yojana Account में आप अपने खाते की चेक बुक भी बनवा सकते है जिसके लिए आपको खाते में कोई भी मिनिमम बैलेंस रखने की पाबंदी नहीं है। ना ही कोई जरुरी है बैंक आपसे आपके चेक बुक के लिए कोई शुल्क ले। मगर बैंक चाहे तो आपको बता के आपसे आपकी चेक बुक के लिए शुल्क ले भी सकता है।

महिलाओ को दिए गए ५००-५०० रुपया ३ माह तक


PMJDY Wiki : Pradhan Mantri Jan Dhan Yojana Wikipedia Information

pmjdy account

जान धन योजना में कुल कितने खाता धारक है ?

इस योजना के अंतर्गत अभी तक कुल 40 करोड़ के भी अधिक खाते खोले जा चुके है। यह 40 करोड़ जन धन खाता धारक PMJDY Account Holders योजना का लाभ उठा रहे है। इस 40 करोड़ खातों में अभी तक 1.30 लाख करोड़ रुपया से अधिक की राशि जामा की जा चुकी है।

इस योजना की सफलता को देखते हुए सरकार ने इस योजना के तहत दुर्घटना बीमा की राशि को 1 लाख रुपया से बढ़ा कर 2 लाख रुपया कर दी है। यह खाता धारको के लिए बहुत ही बड़ी ख़ुशी की बात है। दुर्घटना के परिस्तिथि में खाताधारक को 2 लाख रुपया की राशि पाने के लिए इस बात का ध्यान रखना है की वह दुर्घटना से 90 दिन पहले आपने खाते को इस्तेमाल किया हो। ऐसा ना करने पे खाताधारक को दुर्घटना के केस में 2 लाख रुपया की राशि नहीं मिलेगी। साथ ही साथ दुर्घटना से 60 दिन के अंदर अंदर दुर्घटना बीमा की राशि के लिए पंजीकरण करवाना अनिवार्य है अन्यथा दुर्घटना बीमा राशि नहीं मिलेगी।


प्रधान मंत्री जान धन अकाउंट खोलने की प्रक्रिया

BSBDA खाता जीरो बैलेंस के साथ PMJDY के अंतर्गत खोलने के लिए निम्न चीजे होनी चाहिए :

  • भारत देश का नागरिक होना चाहिए।
  • उम्र 10 वर्ष या उससे ज्यादा।
  • व्यक्ति का कोई भी बैंक अकाउंट नहीं होना चाहिए किसी भी बैंक में।

कौन कौन से बैंक में जान धन अकाउंट खुलवाया जा सकता है ?

आप नीचे दिए गए कोई भी पब्लिक सेक्टर बैंक Public Sector Bank में जाके जन धन अकाउंट Open Jan Dhan Account खुलवा सकते है।

  • भारतीय स्टेट बैंक (SBI)
  • स्टेट बैंक ऑफ बीकानेर एंड जयपुर
  • स्टेट बैंक ऑफ हैदराबाद
  • स्टेट बैंक ऑफ मैसूर
  • स्टेट बैंक ऑफ पटियाला
  • स्टेट बैंक ऑफ त्रावणकोर
  • बैंक ऑफ बड़ौदा (BoB)
  • आंध्रा बैंक
  • बैंक ऑफ महाराष्ट्र
  • बैंक ऑफ इंडिया (BoI)
  • केनरा बैंक
  • कॉर्पोरेशन बैंक
  • आईडीबीआई बैंक
  • भारतीय बैंक
  • पंजाब नेशनल बैंक (PNB)
  • सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया
  • विजय बंक
  • पंजाब एंड सिंध बैंक
  • सिंडीकेट बैंक
  • देना बैंक
  • इलाहाबाद बैंक
  • यूनियन बैंक ऑफ इंडिया
  • ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स (OBC)

साथ ही साथ आप चाहे तो आप अपने Jan Dhan Account Opening Bank List प्राइवेट बैंक में भी खुलवा सकते है। नीचे सभी प्राइवेट बैंको की सूचि दी हुई है।

  • आईसीआईसीआई बैंक लिमिटेड
  • एक्सिस बैंक लिमिटेड
  • एचडीएफसी बैंक लिमिटेड
  • फेडरल बैंक लिमिटेड
  • इंडसइंड बैंक लिमिटेड
  • आईएनजी वैश्य बैंक लिमिटेड
  • कर्नाटक बैंक लिमिटेड
  • कोटक महिंद्रा बैंक लिमिटेड
  • यस बैंक लिमिटेड लिमिटेड
  • धनलक्ष्मी बैंक लिमिटेड

जन धन योजना लेटेस्ट अपडेट

प्रधान मंत्री जन धन योजना के तहत जरुरत पड़ने पे 5000 रुपये तक का ओवरड्राफ्ट की भी सुविधा दी गयी है। इसमें यह जरुरी नहीं है की आपके कहते में 5000 रुपये हो। बिना पैसे के भी आप यह 5000 रुपये जरुरत पड़ने में अपने खाते में से निकल सकते है । इसको मगर आपको बैंक को वापस भी करना है क्युकी यह बैंक की तरफ से एक लोन की तरह दी गयी राशि है।

जब धन बैंक खाते को आधार कार्ड से जोड़े। यह करके आप बैंक की तरफ से ओवरड्राफ्ट सुविधा का लाभ आसानी से उठा सकते है। साथ ही साथ बैंक खाते को आधार से लिंक करने के कई सारे अन्य लाभ भी है जो जान धन अकाउंट होल्डर को मिलते है। रूपए डेबिट कार्ड पे 1 लाख रुपया का दुर्घटना बीमा की सुविधा भी है चाहे आपके खाते में पैसा हो या नहीं । 30,000 रुपये का एक्स्ट्रा इंश्योरेंस बेनिफिट भी मिलेगा । इस तरह अगर अकाउंट होल्डर की किसी हादसे में मौत होती है तो उसके परिवार वालो को 1.3 लाख रुपया की राशि मिल जाएगी। अगर जान धन खाते से आधार कार्ड नहीं लिंक होगा तो यह सब सुविधा नहीं मिलेगी।

जरूर से पढ़े:

pmjay

PMJAY – Pradhan Mantri Jan Arogya Yojana ऑनलाइन आवेदन एवं सम्पूर्ण जानकारी Latest Information 2020

PMJAY – Pradhan Mantri Jan Arogya Yojana Scheme By Indian Government | PMJAY Registration | Login | Check Status | PM Jan Arogya Yojana in Hindi

हेलो दोस्तों। आज हम आपके लिए जन आरोग्य योजना PMJAY की सम्पूर्ण जानकारी लेके आये है। हमारी कोशिश यह रहती है की आपतक जल्द से जल्द और सही सरकारी योजनाओ की जानकारी पहुँचती रहे।

प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना दुनिया की सबसे बड़ी बीमा योजना है जिसके अंतर्गत 50 करोड़ से भी अधिक लोगो को लाभ मिल रहा है। पीएम जन आरोग्य योजना – Prime Minister Jan Arogya Yojana क्या है ?

आयुष्मान भारत (Ayushman Bharat Yojana – ABY) प्रधान मंत्री जन आरोग्य योजना – Pradhan mantri Jan Arogya Yojana भारत सरकार द्वारा चलाई गयी बीमा योजना है जोकि गरीब और असक्षम लोगो के लिए है जो बीमा खुद के पैसे से नहीं ले सकते। यह योजना मोदीकेयर (Modicare) नाम से प्रसिद्ध है और इस योजना में वास्तव में गरीब लोगो को हेल्थ इन्शुरन्स (Health Insurance Scheme) मुहैया कराया जाता है। PMJAY के तहत देश के 10 करोड़ परिवारों को हर साल 5 लाख रुपये का स्वस्थ्य बीमा दिया जा रहा है।

pmjay

PMJAY जन आरोग्य योजना का लक्ष्य क्या है ?

देश के प्रधान मंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी ने प्रधान मंत्री जन आरोग्य योजना की घोषणा की थी। यह योजना पंडित दीन दयाल उपाध्याय की जयंती 25 सितम्बर 2018 से देशभर में लागू कर दी गयी थी।

सरकार का मुख्या उदेश यह था की इस योजना से देश के सभी गरीब जिसमे गांव और शहर दोनों के लोग शामिल हो उनतक स्वस्थ्य बीमा पहुंचाया जा सके।

सामाजिक आर्थिक जाति जनगणना (SECC) 2011 के मुताबिक़ देश के ग्रामीण इलाको के 8.03 करोड़ परिवार और शहरी इलाको के 2.33 करोड़ परिवार आयुष्मान भारत योजना के दायरे में आते है। इस वजह से इस योजना से देश के 50 करोड़ लोगो तक यह सुविधा पहुंचेगी । सालाना 5 लाख रुपया की हेल्थ इन्शुरन्स से देश के गरीब लोग अपने इलाज के लिए अच्छे हॉस्पिटल में अपना इलाज करवा सकेंगे। साल 2008 में यूपीए सरकार द्वारा लाइ गयी राष्ट्रीय बीमा योजना (NHBY) को भी जन आरोग्य योजना (PM-JAY) में जोड़ दिया गया है।

स्वामित्व योजना : Swamitva Yojana kya Hai ?


कौन कौन सी बीमारिया शामिल है जन आरोग्य योजना में ?

  • आयुष्मान भारत योजना (ABY) में प्रति परिवार हर साल 5 लाख रुपये तक का स्वास्थ्य बीमा दिया जाता है।
  • मोदीकेयर (PM-JAY) में पुरानी बीमारियों को भी कवर किया जाता हैं।
  • किसी बीमारी की स्थिति में अस्पताल में एडमिट होने से पहले और बाद के खर्च भी कवर किये जा रहे हैं। PM-JAY में ट्रांसपोर्ट पर होने वाला खर्च भी शामिल है।
  • किसी बीमारी की स्थिति में सभी मेडिकल जांच/ऑपरेशन/इलाज आदि PM-JAY के तहत कवर होता हैं।
  • जो चीज स्वास्थ्य बीमा के दायरे से बाहर हैं, उनकी लिस्ट बहुत छोटी है।

जन आरोग्य योजना के लिए कौन कौन पात्र है

  • देश के 10.74 करोड़ परिवार PMJAY का लाभ ले रहे है।
  • इन परिवार की पहचान गरीब और सुविधाओं से वंचित लोगों के तौर पर की जाती है।
  • Ayushman Bharat Yojana (ABY) का लाभ लेने के लिए सामाजिक आर्थिक जाति जनगणना के आंकड़ों का इस्तेमाल किया गया है। जो परिवार इस सूचि में आते है उन्ही को जन आरोग्य योजना का लाभ मिल सकेगा।
  • PMJAY का लाभ लेने के लिए परिवार के आकार या उम्र की कोई सीमा तय नहीं की गई है।

आयुष्मान भारत योजना – जन आरोग्य योजना का लाभ कैसे लिया जाये ?

  • स्वास्थ्य बीमा के पैनल में शामिल किसी भी अस्पताल से PMJAY में बिना पैसे दिए (कैशलेस) इलाज करवाया जा सकता है।
  • इस योजना से जुड़े सभी नियमो का पालन करने पे कई सारे प्राइवेट हॉस्पिटल्स भी इस योजना के जुड़े हुए है।
  • जन आरोग्य योजना के तहत देश के किसी भी सरकारी हॉस्पिटल में बिना शुल्क इलाज़ करवाया जा सकता है।
  • Pradhan Mantri Jan Arogya Yojana के लिए नीति आयोग कैशलेस या पेपरलेस इलाज के लिए आईटी फ्रेमवर्क विकसित किया है।

जन आरोग्य योजना में हॉस्पिटल में भर्ती होने की प्रक्रिया – Steps to get admitted in Hospital under Pradhan Mantri Jan Arogya Yojana

  • जन आरोग्य योजना के लाभार्थी अस्पताल में एडमिट होने के लिए कोई चार्ज नहीं चुकाना होगा। अस्पताल में दाखिल होने से लेकर इलाज तक का सारा खर्च इस योजना में कवर किया गया है।
  • पीएम जन आरोग्य योजना स्कीम में अस्पताल में दाखिल होने से पहले और बाद के खर्च भी कवर किये गए है।
  • इस योजना के अंतर्गत, पैनल में शामिल हर अस्पताल में एक आयुष्मान मित्र होगा। वह मरीज की सहायता करेगा और उसे अस्पताल की सुविधाएं दिलाने में मदद करेगा।
  • अस्पताल में एक हेल्प डेस्क भी होगा जो दस्तावेज चेक करने, स्कीम में नामांकन के लिए वेरिफिकेशन इत्यादि में मदद करेगा।
  • जन आरोग्य योजना (PMJAY) में शामिल व्यक्ति देश के किसी भी सरकारी/पैनल में शामिल निजी अस्पताल में इलाज करा सकेगा वो भी बिना किसी शुल्क के।

PMJAY Official Website PM Jan Arogya Yojana Login : https://pmjay.gov.in/


क्या है जन आरोग्य योजना ? जानिए इस वीडियो की मदद से

केंद्र और राज्य दोनों सरकारों द्वारा भुगतान किए गए प्रीमियम के माध्यम से प्रति परिवार प्रति वर्ष 5 लाख रुपये के बीमा कवर के माध्यम से, प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना से गरीबों को कैशलेस माध्यमिक और तृतीयक स्वास्थ्य सेवा से लाभ मिल रहा है । इसका उद्देश्य भारत के ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों में 50 करोड़ लाभार्थियों को लाभान्वित करना है। उन्हें किसी भी सेवा के लिए भुगतान करने की आवश्यकता नहीं है क्योंकि अस्पताल में भर्ती होने के पूर्व और बाद के खर्च दोनों को कवर किया गया है।


इस योजना के लिए पात्रता कैसे चेक करे ?

PM Jan Arogya Yojana Registration के लिए कोई भी आवेदन पत्र नहीं भरना है, बस अपनी पात्रता ऑनलाइन जांचें। चूंकि जो लोग PMJAY login स्वास्थ्य कवर के लिए पात्रता प्राप्त करते हैं, उन्हें आवेदन करने की आवश्यकता नहीं है। भुगतान करने के लिए कोई पंजीकरण शुल्क नहीं है या आवेदन फॉर्म भरना है। यह जानने के लिए कि क्या वह लाभार्थी है या नहीं, एक व्यक्ति को हेल्पलाइन नंबर पर कॉल करना होगा या आधिकारिक वेबसाइट पर कुछ विवरण दर्ज करना होगा।

  • जो संभावित लाभार्थी है वह Pradhan Mantri Jan Arogya Yojana के हेल्पलाइन नंबर पे कॉल करके अपनी पात्रता जान सकते है । PM Jan Arogya Yojana Helpline Number है 14555.
  • आप योजना के आधिकारिक पोर्टल पर लॉग इन कर सकते हैं। वहां पहुंचने के बाद, आप अपना मोबाइल नंबर और एक कैप्चा कोड दर्ज कर सकते हैं। जनरेट ओटीपी पर क्लिक करें और अपने मोबाइल पर वन-टाइम पासवर्ड वाले एसएमएस के आने का इंतजार करें। अपने ओटीपी को दर्ज करने के बाद, वेबसाइट आपको क्षेत्रों के लिए स्लॉट वाली खोज स्क्रीन पर ले जाती है, नाम, पिता का नाम, माता का नाम, पति या पत्नी का नाम और पिन कोड के आधार पर अपनी पात्रता खोजें।
  • आप अपना नाम, मोबाइल नंबर, राशन कार्ड नंबर, या राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना URN नंबर दर्ज करके पात्रता की जांच कर सकते हैं। सुनिश्चित करें कि आप इसके साथ आगे बढ़ने से पहले जिस राज्य के अंतर्गत आते हैं उसका चयन करें। यदि सूची में आपका नाम पहले से ही है तो यह आपकी स्क्रीन के दाईं ओर दिखाई देता है। क्लिक करें, जहां यह कहता है कि परिवार के सदस्य और कार्रवाई लाभार्थी विवरणों को प्रकट करेंगे और आपके परिवार में सभी स्वास्थ्य कवर के हकदार हो जायेंगे।

इस प्रकार, पीएमजेएवाई – जन आरोग्य योजना एक समावेशी स्वास्थ्य बीमा योजना है, जो समाज के कमजोर वर्गों को चिकित्सा उपचार, पूर्व और बाद में अस्पताल में भर्ती होने की देखभाल और यहां तक ​​कि मुफ्त में सर्जरी करने का मौका देती है।

अपना नाम जन आरोग्य योजना की सूचि में देखें यहाँ से : https://mera.pmjay.gov.in/search/login

new-education-policy-2020

[New Education Policy-2020]♦️नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति के बारे में जानकारी

new education policy pdf,new education policy 2020 in india, new education policy in hindi, new education policy 2020 implementation date

New Education Policy:मेरे प्रिय मित्रो आज हम नयी शिक्षा नीति(New Education Policy-2020) से जुडी सम्पूर्ण जानकारी से आप को अवगत करायेंगे ।प्राचीनकाल से समय-समय पर शिक्षा नीति में परिवर्तन होने से बच्चो को शिक्षा से लाभ प्राप्त होता है,साथ ही एक शिक्षित सामाज के सृजन में सहायक होता है।

सर्वप्रथम शिक्षा नीति में परिवर्तन पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गाँधी द्वारा  सन 1968 में शुरू हुआ इसके उपरांत दूसरी शिक्षा नीति 1986 में पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गाँधी द्वारा किया गया। जिसमे कुछ संशोधन 1992 में पूर्व प्रधानमंत्री नरसिम्हा राव द्वारा किया गया था।देश में 34 वर्ष पुरानी शिक्षा नीति को  केंद्र सरकार के द्वारा मानव संसाधन प्रबंधन मंत्रालय के मार्गदर्शन पर नयी शिक्षा नीति-2020 को मंजूरी दी गयी।New Education Policy-2020 की अध्यक्षता इसरो के पूर्व प्रमुख  डॉ  कस्तूरीरंगन ने किया। केंद्र सरकार ने मानव संशाधन मंत्रालय का नाम बदलकर शिक्षा मंत्रालय कर दिया है।

New Education Policy क्या है ? इससे होने वाले फायदे व् शिक्षा के क्षेत्र में क्या बदलाव हुए है इस पर हम विस्तृत चर्चा करेंगे।  

उत्तर-प्रदेश पहला ऐसा प्रदेश बन गया है जिसने नयी शिक्षा नीति -२०२० को प्रदेश में लागू किया है।

New Education Policy(नयी शिक्षा नीति-2020) क्या है ?

नयी शिक्षा नीति एक राष्ट्रीय लक्ष्य है। नयी शिक्षा नीति एक ऐसा माध्यम है जिससे देश के बच्चो ,युवाओ व् समाज के भविष्य  का सृजन किया जा सकता है। राष्ट्रीय शिक्षा नीति के अंतर्गत विद्यालयों व् कॉलेजो में होने वाली शिक्षा पद्धति के प्रारूप को तैयार किया गया है। राष्ट्रीय शिक्षा नीति का प्रमुख उद्देश्य वैश्विक स्तर पर महाशक्ति बनना है।

new-education-policy-2020

नयी शिक्षा नीति-2020

नयी शिक्षा नीति-2020 मोदी सरकार के द्वारा लागू किया गया है। जिसमे निम्नलिखित बदलाव किया गया है जो इस प्रकार है-

  • ➡️ New Education Policy-2020 में 10+2 पैटर्न के स्थान पर 5+3+3+4 पैटर्न को लागू किया गया है। 5+3+3+4 पैटर्न के अनुसार 12 वर्ष की स्कूली शिक्षा व् 3 वर्ष की प्री -स्कूली शिक्षा होगी।
  • ➡️ नयी शिक्षा नीति में कक्षा-५ तक के छात्रों को अपनी मात्रृ -भाषा या क्षेत्रीय भाषा में शिक्षा दी जाएगी|
  • ➡️ राष्ट्रीय शिक्षा नीति में कक्षा-6 से व्यावसायिक प्रशिक्षण इंटेर्नशिप शुरू किया जायेगा।
  • ➡️ मेडिकल और लॉ की शिक्षा को छोड़कर सभी शिक्षा का सार्वभौमीकरण किया जायेगा।
  • ➡️ National Education Policy 2020 में छात्रों को कौशल कोडिंग सिखाई जाएगी।
  • ➡️ राष्ट्रीय शिक्षा नीति के तहत वर्चुअल लैब डेवलप किये जायेंगे।
  • ➡️ नयी शिक्षा नीति में विद्यालय डिजिटल एन्क्रिप्ट किये जायेंगे।
  • ➡️ नयी शिक्षा नीति के अंतर्गत उच्च शिक्षा में मल्टीपल एंट्री व् एग्जिट का विकल्प  होगा।
  • ➡️ राष्ट्रीय शिक्षा नीति में नेशनल रिसर्च की स्थापना होगी।
  • ➡️ New Education Policy-2020 में 10+2 पैटर्न के स्थान पर 5+3+3+4 पैटर्न को लागू किया गया है। 5+3+3+4 पैटर्न के अनुसार 12 वर्ष की स्कूली शिक्षा व् 3 वर्ष की प्री -स्कूली शिक्षा होगी।
  • ➡️ नयी शिक्षा नीति में कक्षा-५ तक के छात्रों को अपनी मात्रृ -भाषा या क्षेत्रीय भाषा में शिक्षा दी जाएगी|
  • ➡️ राष्ट्रीय शिक्षा नीति में कक्षा-6 से व्यावसायिक प्रशिक्षण इंटेर्नशिप शुरू किया जायेगा।
  • ➡️ मेडिकल और लॉ की शिक्षा को छोड़कर सभी शिक्षा का सार्वभौमीकरण किया जायेगा।
  • ➡️ National Education Policy 2020 में छात्रों को कौशल कोडिंग सिखाई जाएगी।
  • ➡️ राष्ट्रीय शिक्षा नीति के तहत वर्चुअल लैब डेवलप किये जायेंगे।
  • ➡️ नयी शिक्षा नीति में विद्यालय डिजिटल एन्क्रिप्ट किये जायेंगे।
  • ➡️ नयी शिक्षा नीति के अंतर्गत उच्च शिक्षा में मल्टीपल एंट्री व् एग्जिट का विकल्प  होगा।
  • ➡️ राष्ट्रीय शिक्षा नीति में नेशनल रिसर्च की स्थापना होगी।
  • ➡️ नयी शिक्षा नीति के अंतर्गत 2030 तक हर बच्चे की शिक्षा सुनिश्चित की जाये।
  • ➡️ नयी शिक्षा नीति के अंतर्गत 2030 तक हर बच्चे की शिक्षा सुनिश्चित की जाये।

MP Land Record Online कैसे चेक करे?

New Education Policy(नयी शिक्षा नीति-2020) के फायदे :

  • ➡️ New Education Policy के तहत जीडीपी का 6% शिक्षा के क्षेत्र में लगाया जायेगा।
  • ➡️ नयी शिक्षा नीति के अंतर्गत उच्च शिक्षा में मल्टीपल एंट्री व् एग्जिट का विकल्प  होगा।
  • ➡️ National Education Policy 2020 में छात्रों को कौशल कोडिंग सिखाई जाएगी।
  • ➡️ राष्ट्रीय शिक्षा नीति के अंतर्गत संस्कृत भाषा व् अपने प्राचीन भाषा (भारत की )में पढ़ने का विकल्प छात्रों  को मिलेगा।
  • ➡️ बोर्ड परीक्षा को वर्ष में दो चरणों में कराया जायेगा जिससे छात्रों को सरल व् भारमुक्त वातावरण मिल सके।
  • ➡️ Higher Education लेवल पर M.phil.degree को समाप्त किया जायेगा।
  • ➡️ नयी शिक्षा नीति के अंतर्गत extra curriculum activity को main syllbus में रखा जायेगा।
  • ➡️ राष्ट्रीय शिक्षा नीति के अंतर्गत छात्रों को तीन भाषा सिखाई जाएगी जो कि राज्य अपने स्तर पर भाषा का चुनाव करेगा।
  • ➡️ नयी शिक्षा नीति में संगीत और कला को भी प्रोत्साहित किया जायेगा।
  • ➡️ नई शिक्षा नीति- 2020 के अंतर्गत राष्ट्रीय शैक्षिक अनुसंधान और प्रशिक्षण परिषद द्वारा स्कूली शिक्षा के लिए राष्ट्रीय पाठ्यक्रम रूपरेखा तैयार की जाएगी।
  • ➡️ समय के अनुसार शिक्षा नीति में बदलाव छात्रों में शैक्षिक विकास व् समाज में संतुलन बनाने में सहायता मिलेगी।

नयी शिक्षा नीति-2020 महत्वपूर्ण चरण

New Education Policy (नयी शिक्षा नीति-2020) को चार महत्वपूर्ण चरणों में विभाजित किया गया है जो इस प्रकार है –

  • ➡️ फाउंडेशन स्टेज : नई शिक्षा नीति- 2020 में  फाउंडेशन स्टेज के अंतर्गत 3 से 8 वर्ष के बच्चे को सम्मलित किया गया है, इसके तहत बच्चे 3 वर्ष की अपनी प्री- स्कूली शिक्षा तथा 2 वर्ष की स्कूली शिक्षा जिसमें कक्षा 1 तथा 2 सम्मलित है । फाउंडेशन स्टेज में छात्रों को भाषा कौशल तथा शिक्षण के विकास पर ध्यान केंद्रित किया जाएगा । छात्रों को extra curriculum activity के माध्यम से पढ़ने पर जोर दिया जायेगा।
  • ➡️ प्रीप्रेटरी स्टेज : इस चरण के अंतर्गत 8 से 11 वर्ष के बच्चे को सम्मलित किया गया है , प्रीप्रेटरी स्टेज के तहत कक्षा-3 से कक्षा-5 के बच्चे सम्मलित होंगे और इस चरण में बच्चों की भाषा और संख्यात्मक कौशल के विकास पर ध्यान देना शिक्षकों का मुख्य उद्देश्य रहेगा । प्रीप्रेटरी स्टेज तक बच्चों को क्षेत्रीय भाषा में शिक्षित किया जायेगा।
  • ➡️ मिडिल स्टेज : मिडिल स्टेज के अंतर्गत कक्षा 6 से कक्षा 8 के बच्चे सम्मलित होंगे। मिडिल स्टेज के अंतर्गत कक्षा 6 के बच्चों को कोडिंग सीखाने के साथ व्यावसायिक प्रशिक्षण और इंटर्नशिप दी जाएगी ।
  • ➡️ सेकेंडरी स्टेज : सेकेंडरी स्टेज के तहत कक्षा 9 से 12 तक के बच्चों को सम्मलित किया गया है। इसके अंतर्गत बच्चे अपनी इच्छा अनुसार विषय का चुनाव करके शिक्षा ग्रहण कर सकता है ।

राष्ट्रीय शिक्षा नीति के प्रमुख उद्देश्य

प्राचीन भारत में शिक्षा का प्रमुख उद्देश्य ज्ञान प्राप्त करना मात्र नहीं था अपितु स्कूल के बाहर के जीवन की तैयारी करना व् स्वयं का पूर्ण बोध तथा मुक्ति भी था। मानव शिक्षा का प्रमुख उद्देश्य जीवन निर्माण ,विचारो को आत्मसात करने वाला होना चाहिए। आज की शिक्षा हमारी प्राचीन परम्पराओ के बिलकुल विपरीत ,छात्रों को उनकी व्यक्तिगत क्षमता के लिए विकसित नहीं किया जाता है। आज छात्रों को नए कौशलों के अधिग्रहण की नियमित रूप से आवश्यकता है।

अतः आधुनिकता के इस माहौल में छात्र को ज्ञान,कौशल ,तथा रोजगार योग्य कौशल शिक्षा से शिक्षित होना अति आवश्यक है ,जो भारत के सामाजिक ,आर्थिक व् राजनैतिक में अपना योगदान करने में सक्षम रहे। केंद्र सरकार का नयी शिक्षा नीति -२०२० में उपरोक्त उद्देश्य अंतर्निहित है।

राष्ट्रीय शिक्षा नीति के प्रमुख उद्देश्य का संक्षिप्त रूप जो इस प्रकार है-

  • ➡️ वर्ष 2025 तक  की 3 से 6 आयु के प्रत्येक बच्चे के लिए मुफ्त ,सुरक्षित ,उच्च गुणक्ता ,विकासात्मक स्तर के देखभाल तथा शिक्षा सुनिश्चित करना।
  • ➡️ वर्ष 2025 तक  5वी कक्षा एवं उसके ऊपर के सभी विद्यार्थी बुनियादी साक्षरता व् संख्या ज्ञान अर्जित कर सके।
  • ➡️ वर्ष 2030 तक 3 से 18 वर्ष के बच्चो के लिए निशुल्क और अनिवार्य गुणक्तापूर्ण स्कूली शिक्षा की पहुंच तथा भागीदारी सुनिश्चित करना।
  • ➡️ वर्ष 2022 तक शिक्षाक्रम और शिक्षण शास्त्र में बदलाव करना ताकि रटने के प्रचलन को ख़त्म किया जा सके तथा इसकी जगह  21वी शताब्दी में आवश्यक ज्ञान ,मूल्य ,रुझान ,हुनर और कौशल ,वैज्ञानिक सोच आदि विकास को बढ़ावा देना।
  • ➡️ स्कूल शिक्षा के सभी स्तर के सभी विद्यार्थियों का शिक्षण उत्साहित ,प्रेरित ,उच्च योग्यता वाले प्रशिक्षित व् निपूर्ण शिक्षकों द्वारा हो।
  • ➡️ एक समतामूलक तथा समावेशी शिक्षा व्यवस्था स्थापित करना।
  • ➡️ स्कूलों के समूह को स्कूल कॉम्लेक्स का रूप दिया जाय,जिससे संशाधनो का साझा उपयोग सुगम बने। 

नयी शिक्षा नीति  से सम्बंधित महत्वपूर्ण PDF

New Education Policy-2020 PDF in Hindi

New Education Policy-2020 PDF in English

नयी शिक्षा नीति -2020 से क्या अभिप्राय है ?

नयी शिक्षा नीति-2020 एक राष्ट्रीय लक्ष्य है। नयी शिक्षा नीति एक ऐसा माध्यम है जिससे देश के बच्चो ,युवाओ व् समाज के भविष्य  का सृजन किया जा सकता है। राष्ट्रीय शिक्षा नीति के अंतर्गत विद्यालयों व् कॉलेजो में होने वाली शिक्षा पद्धति के प्रारूप को तैयार किया गया है। राष्ट्रीय शिक्षा नीति का प्रमुख उद्देश्य वैश्विक स्तर पर महाशक्ति बनना है।

राष्ट्रीय शिक्षा नीति -२०२० किसकी अध्यक्षता में बनाया गया ?

इसरो के पूर्व प्रमुख  डॉ  कस्तूरीरंगन की अध्यक्षता में राष्ट्रीय शिक्षा नीति -२०२० बनाया गया।

pradhan-mantri-garib-kalyan-yojana

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना | Pradhan Mantri Garib Kalyan Yojana Registration | PMGKY

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना पंजीकरण | Pradhan Mantri Garib Kalyan Yojana Apply

दोस्तो आज हम जिस सरकारी योजना के बारें में आप लोगो को इस लेख में बताने जा रहे  है उसको केंद्र सरकार के द्वारा 26 मार्च 2020 को शुरुआत किया गया जो कि प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के नाम से जाना जाता है इस योजना को लाँक डाउन के दौरान गरीब देशवासियों  की समस्या को देखते हुये शुरुआत किया गया। इस योजना के सफल बनाने के लिए 1.75 लाख करोड़ की धनराशि दिया गया। यदि आप भी Pradhan Mantri Garib Kalyan Yojana के लिए आवेदन करना चाहते है तो इस लेख को ध्यानपूर्वक पढ़े।

pradhan-mantri-garib-kalyan-yojana

इस योजना के द्वारा केन्द्र सरकार ने यह सुनिश्चत किया की लाकडाउन के दौरान ऐसी स्थिति न आये कि किसी भी गरीब परिवार को खाने रहने की किसी भी तरह कि परेशानी हो।

Pradhan Mantri Garib Kalyan Yojana

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना क्या है?कैसे मिलेगा इस स्कीन से लाभ

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने विडियो कांफ्रेन्सिंग के जरिये इस योजना कि घोषणा की। दोस्तो जैसा की आप जानते हैकि कोरोना महामारी के कारण जो भी प्रवासी मजदूर कई प्रदेशों में काम करते थे उनके काम एवं फैक्ट्री बंद होगया जिसके कारण इन्हे अपने घर वापस आना पड़ा। ये योजना 6 राज्यों के 116 जिलों में चलायी जायेगी यह केवल उन्ही राज्यों में चलाई जायेगी जहां 25 हजार से ज्यादा प्रवासी कामगार होगें। जिन्हे 125 दिनों के लिए रोजगार मिलेगा।भारत सरकार प्रवासी मजदूरो के लिए 50 हजार करोड़ रुपये खर्च किये जायेगे।

Pradhan Mantri Garib Kalyan Yojana के मुख्य अंश-

  • प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना आत्मनिर्भर अभियान का हिस्सा है
  • केन्द्र सरकार के द्वारा प्रधानमत्री गरीब कल्य़ाण योजना कि शुरुआत 2016 में कि गई
  • वर्तमान मे कोबिड-19 की इस महामारी के खिलाफ लड़ाई में इस योजना के माध्यम सरकार के द्वारा गरीबो के लिए राहत पैकेज पहुचाया जा रहा है
  • प्रधानमत्री गरीब कल्याण योजना के तहत 1.70लाख करोड़ के राहत पैकेज की घोषणा कि गई।

 Pradhan Mantri Garib Kalyan Yojana के तहत मिलने वाले लाभ-

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना(PMGKY) –  के अन्तर्गत सरकार के द्वारा जारी किये गये आर्थिक पैकेज का उपयोग सरकार के द्वारा चलाई जाने वाली विभिन्न योजनओं में किया जायेगा। तो आईये जानते है ऐसी कौन सी योजनाए है

योजना का नाम प्राप्त होने वाले लाभ
जनधन खाता धारक20 करोड़ महिलाओ को प्रति माह 500 रुपये
पीएम किसान योजना के तहत2000 रुपये की राशि लगभग 9 करोड़ पंजीक्रत किसानो
राशन कार्ड धारक केलिए80 करोड़ राशनकार्ड धारकों के लिए 5 किलो गेंहूं + 1 किलो अतिरिक्त राशन मुफ्त
प्रधानमंत्री उज्जवला योजना8 करोड़ महिलाओं को मुफ्त गैस सिलेण्डर
बुजुर्ग,दिव्यागं, विधवा के लिए1000 रुपये का भुगतान 3 महीनो तक

Pradhan Mantri Garib Kalyan Yojana का उद्देश्य –

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना का मुख्य उद्देश्य़ है कि देश में गरीबी का उन्मूलन हो और विकास के कार्यक्रमों को बढ़ावा देना। इसके सारे अधिकार वित्त मंत्रालय के पास होते है।

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के मुख्य घटक-

स्वास्थ्य के क्षेत्र में

  • सरकारी अस्पतालो एवं स्वास्थ्य देखभाल केन्द्र में कोविड-19 से लड़ने वाली सभी स्वास्थ्य कर्मचारियो के लिए बीमा योजना
  • कोविड-19 रोगियो का इलाज के समय दुर्घटना की स्थिति में स्वास्थ्य कर्मचारियो को योजना के तहत 50 लाख की क्षतिपूर्ति
  • सभी सरकारी स्वास्थ्य केन्द्र , वेलनेस सेंटर,केंद्र के अस्पतालो के साथ साथ राज्यो को भी इस योजना के तहत कवर किया जायेगा।
  • लगभग 22 लाख स्वास्थ्य कर्मचारियो को इस महामारी से लड़ने के लिए बीमा कवर प्रदान किया जायेगा।

गरीब कल्याण अन्न योजना

  • भारत में 80 करोड़ आबादी को मुफ्त राशन अर्थात परिवार के हर सदस्य को 5 किलोग्राम चावल या गेंहूं मुफ्त
  • इसके आलावा हर परिवार को प्रतिमाह एक किलोग्राम चना या दाल मुफ्त
  • 80 करोड़ लोगो को मुफ्त राशन देने वाली यह योजना नवंबर तक जारी रहेगी।
  • इस योजना पर 90 हजार करोड़ खर्च होगें।

Pradhan Mantri Garib Kalyan Yojana से किसानो को लाभ

  • PM Kisan Yojana के तहत किसानो की आर्थिक सहायता
  • प्रधानंमत्री गरीब योजना के तहत नगद हस्तांतरण
  • कुल 20.40 करोड़ प्रधानमंत्री जनधन योजना के अन्तर्गत महिला खाता धारको को तीन महीने तक प्रति माह 500 रुपये कि अनुग्रह राशि दी जायेगी
  • गैस सिलेंडर-
  • प्रधानमत्री गरीब कल्यान योजना तहत तीन महीनो के लिए 8 करोड़ गरीब परिवारो को मुफ्त गैस सिलेंड़र दिया जायेगा।
  • संगठित क्षेत्रो में कम मजदूरी पाने वालो की सहायता
  • कोविड के दौरान तीन महीनो तक कठिनाई से निपटने के लिए 1000
  • PM  Garib Kalyan Yojana के तहत 1 अप्रैल 2020 से महात्मा गाधी रोजगार गारंटी योजना के अंतर्गत मजदूरी में 20 रुपये की बढ़ोत्तरी
  • स्वयं सहायता समूहो की मदद
  • भवन एवं अन्य निर्माण श्रमिक कल्याण कोष का गठन

प्रधानमंत्री आवास योजना 2021

गरीब कल्याण रोजगार अभियान

  • कोविड -19 के प्रकोप के मद्देनजर गावों में लौटने वाले प्रवासी कामगारो के लिए रोजगार एवं अजीविका के अवसर को बढ़ावा देने केलिए 20 जून 2020 को गरीब कल्याण रोजगार अभियान की शुरुआत की गई
  • इस अभियान पर 50,000 करोड़ रुपये की राशि खर्च की गई
  • यह अभियान टिकाउ ग्रामीण बुनियादी ढ़ाचे और गावों में इंटरनेट जैसी सुविधाए पर ध्यान केन्द्रित  है
  • यह अभियान अलग अलग मंत्रालयों और विभागों के द्वारा चलाया जायेगा
  • इसके अंतर्गत ग्रामीण विकास,पंचायती राज,सड़क परिवहन एवं राजमार्ग, पेयजल एवं स्वच्छता, पर्यावरण,रेलवे पेट्रोलियम और प्राक्रतिक गैस नई एवं नवीनीकरण उर्जा सीमा सड़के एवं दूरसंचार और क्रषि के साथ 25 निर्माण कार्य को संपन्न किया जायेगा।
  • 125 दिनों का यह अभियान मिशन मोड में काम करेंगा।
  • इसमें 116 जिलो में 25 श्रेणियो के कार्य या गतिविधियों के कार्यन्वन पर ध्यान केन्द्रित किया जायेगा
  • 6 राज्यो बिहार उत्तर प्रदेश,राजस्थान,मध्यप्रदेश,झारखण्ड,और ओडिशा में ध्यान केन्द्रित किया जायेगा।
  • प्रवासियो एवं इसी तरह प्रभावित ग्रमीण नागरिको को वापस करने के लिए आजिविका का अवसर प्रदान करने पर जोर
  • ग्रामीण विकास मत्रालय इस अभियान का नोडल मत्रालय है
  • इस अभियान को राज्य सरकारो के साथ मिलकर लागू किया जायेगा।

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना नया क्या अपडेट है

  • कोरोना महामारी के चलते इस योजना की शुरुआत किया गया जैसा कि पहले इस योजना के अन्तर्गत 26 मार्च 2020 से 30 जून 2020  तक प्रतिमाह 80 करोड़ गरीबों को मुफ्त में 5 किलो राशन (चावल या फिर गेहूं) तथा 1 किलो दाल दिया गया लेकिन अब इस योजना कि समय सीमा को बढा कर 30 नवंबर 2020 तक कर दिया गया है। इसके अन्तर्गत दिये जाने वाला राशन बिल्कुल मुफ्त दिया जायेगा।
  • इस योजना के अंतर्गत भारत सरकार के डाटा के अनुसार अप्रैल तथा मई महीने में 75 करोड़ गरीबों को तथा जून में 73 करोड़ गरीबों को कवर किया गया था। Pradhanmantri Garib Kalyan Yojna के अंतर्गत  वे सभी गरीब मुफ्त में राशन प्राप्त कर सकते है जो कि कोविड-19 के कारण खाने या आर्थिक तंगी से परेशान है।
  • वित्त मंत्रालय के द्वारा दी गई सितम्बर की अपडेट के अनुसार कोरोनोवायरस (COVID-19) के संकट से गरीब और कमजोर लोगों को बचाने के लिए 42 करोड़ से अधिक लोगों को सरकार की प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना (PMGKP) के तहत-68,820-करोड़ की वित्तीय सहायता बांटी जा चुकी है।
  • भारत सरकार के द्वारा PMGKP लिए घोषित किये गये 1.70 लाख करोड़ का उपयोग महिलाओं,गरीब वरिष्ठ नागरिको एवं किसानों के लिए मफ्त राशन एवं भुगतान को शामिल किया है।
  • नवीनतम आंकड़ों के अनुसार,  प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना  हेतु 17,891 करोड़ की पहली किस्त का भुगतान कर दिया गया हैं। pm garib kalyan yojana के तहत 8.94 करोड़ लाभार्थियों को 2,000 रुपये DBT के माध्यम से सीधे उनके खातों में मिले।वही 20.6 करोड़ महिला जन धन खाता धारकों 30,925 करोड़ को 500 रुपये प्रतिमाह (तीन माह तक) दिया गया।

Pradhan Mantri Garib Kalyan Yojana Registration

दोस्तो यहां पर मै आपको यह बताना चाहूगां कि Pradhan Mantri Garib Kalyan Yojana Apply के लिए आपको किसी भी तरह का आनलाईन या आफलाईन आवेदन नही करना है।इसलिए आप किसी भी तरह की अफवाह या गलत लोगो के कहने पर ना आये या किसी भी व्यक्ति या संस्था को पैसे न दें। इस योजना को उपर दिये गये सभी राज्यो के सभी व्यक्ति के पास इसका लाभ पहुचाया जायेगा जो कि सर्वे के आधार पर किया जायेगा।

Important Download

Download

FAQ’s

  • Pradhan Mantri Garib Kalyan Yojana के लाभ क्या है?

    कोरोना महामारी के कारण जो भी गरीब प्रवासी मजदूर के लिए इस योजना के अंतर्गत हर व्यक्ति को राशन से लेकर स्वास्थ्य एवं नगद पैसे की सहायता मुफ्त में कि जाती है

  • Pradhan Mantri Garib Kalyan Yojana के लिए कौन कौन पात्र होगा?

    इस योजना के लिए हर वो व्यक्ति पात्र होगा जिसके पास आधार कार्ड होगा और साथ में जनधन खाता होगा।

  • PMGKY का फुल फार्म क्या होगा?

    PMGKY stands for Pradhan Mantri Garib Kalyan Yojana.

  • Pradhan Mantri Garib Kalyan Yojana के लिए कैसे आवेदन करें

    Pradhan Mantri Garib Kalyan Yojana के लिए आपको कही भी आनलाईन या आफलाईन आवेदन करने की आवश्यकता नही है एक सर्वे के द्वारा आपको इस योजना का लाभ मिलेगा।

aatm-nirbhar-bharat-yojana

आत्मनिर्भर भारत अभियान – Aatm Nirbhar Bharat Abhiyan Yojana के लिए कैसे करें आवेदन

आत्मनिर्भर भारत अभियान या Aatm Nirbhar Bharat Abhiyan Yojana का लक्ष्य भारत को आत्मनिर्भर बनाना है। दोस्तों जैसा कि आप जानते है कि कोरोना एक वैश्विक महामारी है जिसके कारण छोटे उद्योगों, मजदुर, किसानो, श्रमिक को बहुत नुकसान झेलना पड़ा।

aatm-nirbhar-bharat-yojana

Aatm Nirbhar Bharat Abhiyan (आत्मनिर्भर भारत)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 12 मई को सुबह 8 बजे राष्ट्र को संबोधित किया। देश को संबोधित करते हुए, पीएम मोदी ने “आत्म निर्भर भारत” एक आत्म निर्भर राष्ट्र पर ध्यान केंद्रित किया। इसी को ध्यान में रखते हुए माननीय प्रधानमंत्री जी ने 20 लाख करोड़ का विषेश आर्थिक पैकेज का ऐलान किया जो भारत की कुल जीडीपी का 10 प्रतिशत माना जाता है। Aatm Nirbhar Bharat Yojana का मुख्य उद्देश्य कोविड के कारण प्रभावित हुये गरीबो एवं मजदूरों,प्रवासियो को सशक्त बनाना है

आत्मनिर्भर भारत अभियान  के तहत होने वाले सुधार भारत में बुनियादी ढांचे, अर्थव्यवस्था और व्यापार को मजबूत करने पर केंद्रित होंगे। आस्था निर्भारता वैश्विक आपूर्ति परिवर्तन की दौड़ में भारत को आगे बढ़ाने में मदद करेगी और नए आर्थिक पैकेज को दक्षता बढ़ाने और सभी क्षेत्रों की गुणवत्ता में सुधार को ध्यान में रखते हुए बनाया गया है।

प्रधानमत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने अपने संबोधन में कहा “कोविद -19 महामारी ने हमें सप्लाई चेन के महत्व को बहुत अच्छे से सिखाया है। कोई भी विश्व स्तर के ब्रांड कभी लोकल ब्रांड रहा होगा लेकिन उनके देशवासियो के अथक प्रयास से वैश्विक बना दिया। आज से, सभी भारतीयों को हमारे स्थानीय उत्पादों के लिए मुखर होना चाहिए, ”

हमारे देश कि वित्त मंत्री सुश्री निर्मला सीतारमण ने इस राहत पैकेज को पांच अलग अलग भागों में देश के सामने प्रस्तुत किया

Aatm Nirbhar Bharat Abhiyanआत्मनिर्भर भारत अभियान के पांच प्रमुख स्तम्भ

  • इकोनोमी –
  • इन्फ्रास्ट्रक्चर –  किसी भी देश के लिए उसका इन्फ्रास्ट्रक्चर अच्छा होना चाहिये जिसके कारण वह तेज गति से विकासकी ओर बढ़ेगा।
  • हमारा सिस्टम – देश में एक ऐसा सिस्टम होना चाहिये जो हमेशा नयी नयी तकनीकि का विकास करे और उनका उपयोग करें
  • डेमोग्राफी – भारत दुनिया की सबसे बड़ी डेमोक्रेटिक देश है जो कि हमारी ताकत है और हमारे आत्मनिर्भर भारत अभियान की दिशा में काफी सहायक होगी।
  • डिमांड- किसी भी अर्थव्यवस्था को गति देने के लिए उसके डिमांड एवं सप्लाई चेन पर काफी निर्भर करता है हमे अपने देश की इसी ताकत का उपयोग करना है

आत्मनिर्भर भारत अभियान की कुछ प्रमुख बाते

  1. यदि आप कोई छोटा उद्दयोग की शुरुआत करना चाहते है जो कि MSME के अन्तर्गत आते है तो आपको बिना गारंटी के लोन दिये जायेगा।यह लोन 4 साल तक बिल्कुल ही गारटी फ्री का होगा और 10 महीने तक लोन चुकाने की छूट भी मिलेगी।
  2. जो भी कोरोना काल में परेशान है और एमएसएमई में सक्षम है उनके विस्तार के लिए सरकार मदद करेगी जिसके लिए 10000 करोड़ के फंड की व्यवस्था करेगी।
  3. जिनका मासिक वेतनमान 15000 हजार रुपये से कम है और यदि ईपीएफ देय है तो अगस्त माह तक का इपीएफ केन्द्र सरकार के द्वारा दिये जायेगे। इस कार्य हेतु सरकार करीब 25000 करोड़ रुपये खर्च करेगी. 
  4. माइक्रो फाइनेंस कंपनियों (NBFC) के लिए 30,000 करोड़ का एक स्पेसल लिक्विडिटी फंड की व्यवस्था कि गई है।
  5. जिनके भी रिफंड लंबित हैं, उन्हें जल्द से जल्द भुगतान किया जाएगा. छोटे उद्योग हों, पार्टनरशिप वाले उद्योग हों, एलएलपी हों, या कोई अन्य उद्योग, सभी को जल्द से जल्द भुगतान होगा.

आत्मनिर्भर भारत अभियान का लाभ किनको मिलेगा

  • श्रमिक / दिहाड़ी मजदूर
  • किसान
  • वे लोग जो छोटी-छोटी दुकान लगाते हैं इसमें रेहड़ी, रिक्शा वाले भी शामिल हैं।
  • कुटीर उद्योग
  • गृह उद्योग
  • हमारे लघु-मंझोले उद्योग
  • सूक्ष्म लघु और मध्यम उद्यम (MSMEs)
  • मध्यम वर्ग के लोग
  • उच्च वर्ग के लोग जो देश की अर्थव्यवस्था में अपना योगदान देते हैं

महत्वपूर्ण जानकारी आत्मनिर्भर भारत अभियान राहत पैकेजAatm Nirbhar Bharat Abhiyan Important Point

योजना का नामआत्मनिर्भर भारत अभियान
किसके द्वारा आरंभ की गईप्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी
योजना का प्रकारकेंद्र सरकार
लाभार्थीदेश का प्रत्येक नागरिक
उद्देश्यसमृद्ध और संपन्न भारत निर्माण
आरंभ की तिथि12 मई 2020
पैकेज की धनराशि20 लाख करोड़ रुपए
ऑफिशियल वेबसाइटhttps://www.pmindia.gov.in/en/

Aatm Nirbhar Bharat Abhiyan Toll Free Number

अगर आपको आपके बच्चे के लिए पढाई में कोई परेशानी हो रही है तो केन्द्र सरकार ने एक टोल फ्री नंबर 8448440632 जारी किया है जिस पर आप 24×7 कभी भी संपर्क कर सकते है जो कि आत्मनिर्भर भारत अभियान के तहत किया गया है।

आत्मनिर्भर भारत अभियान नई अपडेट

हमारे देश के प्रधानमंत्री जी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए US-इंडिया बिजनेस काउंसिल (USIBC) द्वारा आयोजित इंडिया आइडियाज शिखर सम्मेलन में भाषण दिया। इस वीडियो कॉन्फ्रेंस में मोदी जी ने कहा है कि पिछले छह वर्षों के दौरान हमने अपनी अर्थव्यवस्था को अधिक सुधार योग्य बनाने के लिए कई प्रयास किए हैं। इन सुधारों की वजह से प्रतिस्पर्धात्मकता, पारदर्शिता, डिजिटाइजेशन, इनोवेशनऔर पॉलिसी स्थिरता बढ़ी है। और उन्होंने कहा है कि भारत आपको स्वास्थ्य सेवा में निवेश करने के लिए आमंत्रित करता है।

भारत में हेल्थकेयर सेक्टर हर साल 22.प्रतिशत से भी अधिक तेजी से बढ़ रहा है। इस अभियान के तहत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के निर्देश पर मानव संसाधन विकास मंत्रालय के विशेषज्ञों ने छात्रों, अभिभावकों और शिक्षकों के तनाव को दूर करने के लिए पहली मनोवैज्ञानिक मनोदर्पण गाइडलाइन बनायी है।

आत्मनिर्भर भारत अभियान के तहत कुछ महत्वपूर्ण घोषणाए

आप सभी लोग जानते है कि कोरोना वायरस के कारण पूरे देश के लॉक डाउन की स्थिति चल रही है जिसका सबसे ज्यादा बुरा असर देश के सुक्ष्म, लघु तथा मध्यम उद्योगों , श्रमिकों ,मजदूरों और किसानो पर पड़ रहा है इन सभी नागरिको को लाभ पहुंचाने के लिए हमारे देश के प्रधानमंत्री जी ने देश के सुक्ष्म, लघु तथा मध्यम उद्योगों , श्रमिकों ,मजदूरों और किसानो को आत्मनिर्भर बनाने के लिए आर्थिक पैकेज का ऐलान कर दिया | इस योजना के अंतर्गत सरकार द्वारा चुने गए इन सभी लाभार्थियों को सबसे बड़ी सहायता राशी आर्थिक पैकेज के रूप प्रदान की जाएगी |केंद्र सरकार की इस मदद से भारत देश एक नई ऊचाई की तरफ जायेगा |

Aatm Nirbhar Bharat Abhiyan Yojana Latest Update

श्रमिकों को आत्मनिर्भर बनाने की दिशा में संसद में पारित हुई 3 श्रम संहिताएं

जैसा कि मोदी सरकार नें वादा किया था कि श्रमिको को ज्यादासे ज्यादा सुविधाओ दिये जायेगे श्रमिको को आत्मनिर्भर बनाने एवं रोजगार बढ़ाने कि दिशा में आजादी के 73 वर्षों में पहली बार संसद में पारित हुई तीन श्रम संहिताएं आईये जानते है इनकी कुछ खास महत्वपूर्ण बातें-

सामाजिक सुरक्षा संहिता ,2020

  • कर्मचारी भविष्य निधि और राज्य कर्मचारी बीमा निगम का सोशल सिक्योरिटी नेट सभी वर्कर के लिए खुल गया
  • 40 करोड़ असंगठित श्रमिको केलिए सामाजिक सुरक्षा कोष का गठन
  • अंसगठित क्षेत्र के श्रमिकों के लिए राष्ट्रीय डाटा बेस

व्यवसायिक सुरक्षा , स्वास्थ्य एवं कार्यदशा संहिता 2020

  • सभी श्रमिको आब मिलेगे नियुक्ति पत्र
  • नि:शुल्क वार्षिक स्वास्थ्य जांच
  • सिनेमा कर्मचारियो का आडियो विजुआल वर्कर का दर्जा मिलेगा।
  • महिला कर्मियो को अब शाम 7 बजे से सुबह 6 बजे तक काम करने का अधिकार

☑ औद्योगिक संबन्ध संहिता 2020

  • पहली बार श्रम कानूनों में ट्रेड यूनियनों को मान्यता
  • समझौतो के लिए श्रमिको के संघ और परिषदों को मान्यता
  • श्रमिको को कांट्रैक्ट लेबर के बजाय Fixed Term Employment का विकल्प मिलेगा।