Pragati Scholarship

Pragati Scholarship Apply Online: Check Scholarship Status,Merit List

Pragati and saksham Scholarship | Pragati Scholarship 2021-22 Last Date | Pragati Scholarship Scheme |Pragati Scholarship 2016-17 Renewal

Pragati Scholarship तकनीकी शिक्षा के क्षेत्र में बालिकाओ को प्रोत्साहन तथा आर्थिक सहायता (शिक्षण सामग्री हेतु) प्रदान करने के लिए वर्ष 2014-15 में मानव संसाधन विकास मंत्रालय (MHRD) द्वारा शुरू किया गया व् जिसका संचालन अखिल भारत तकनीकी शिक्षा परिषद ( AICTE) द्वारा किया जाता है। प्रगति छात्रवृति योजना के माध्यम से अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद का प्रमुख उद्देश्य तकनीकी शिक्षा में बालिकाओ की उन्नति व् भागीदारी बढ़ाने के लिए आर्थिक सहायता प्रदान करना है।

विकास की प्रक्रिया में भागीदारी सुनिश्चित करने के लिए बालिकाओ में ज्ञान ,कौशल व् आत्मविश्वास का होना अति आवश्यक है। महिला सशक्तीकरण हेतु शिक्षा एक महत्वपूर्ण साधन है जिससे वह स्वयं व् समाज के भविष्य निर्माण में सहायक सिद्ध होगी।

AICTE Pragati Scholarship द्वारा प्रत्येक युवा महिलाओं को अपनी शिक्षा को आगे बढ़ाने और महिलाओं के सशक्तिकरण हेतु एक प्रयास है अतः इस योजना की सम्पूर्ण जानकारी के लिए लेख को अंत तक अवश्य पढ़े।

 National Scholarship Portal Status 

Pragati Scholarship

Pragati Scholarship क्या है ?

प्रगति छात्रवृत्ति योजना ऐसी बालिकाओ के लिए शुरू किया गया जो तकनीकी शिक्षा के क्षेत्र में अध्यनरत हो। AICTE Pragati Scholarship के द्वारा महिला सशक्तिकरण को बढ़ावा देना तथा तकनीकी शिक्षा के क्षेत्र में बालिकाओ की भागीदारी को बढ़ाना ,सरकार की प्राथमिकता है।
आइये इस योजना को विस्तृत में जाने जो इस प्रकार है –

  • प्रत्येक वर्ष 4000 छात्राओं (2000 डिग्री + 2000 डिप्लोमा ) को प्रगति योजना के अंतर्गत चुना जाता है,जो AICTE से सम्बद्ध कॉलेज में शिक्षारत हो।
  • तकनीकी शिक्षा के क्षेत्र में प्रोत्साहन हेतु 30000/– राशि की आर्थिक सहायता के रूप में दिया जाता है।
  • चयनित छात्राओं को 2000/- प्रति माह की दर से 10 महीने तक मिलेगा।
  • किसी छात्रा की शिक्षण शुल्क प्रतिपूर्ति या माफ होने की स्थिति में ,उस छात्रा को शिक्षण सामग्री जैसे -पुस्तकें,सॉफ्टवेयर्स,उपकरण,प्रतियोगी परीक्षा आवेदन आदि के लिए 30000/- की राशि प्रदान की जाएगी।
  • प्रगति छात्रवृत्ति योजना के अंतर्गत SC को 15%,ST को 7.5%,OBC को 27% आरक्षण दिया जायेगा।

Pragati Scholarship का उद्देश्य

प्रगति छात्रवृत्ति योजना का प्रमुख उद्देश्य निम्नवत है –

  • आर्थिक सहायता के माध्यम से तकनीकी शिक्षा के क्षेत्र में बालिकाओ को प्रोत्साहित करना।
  • महिला सशक्तीकरण हेतु बालिकाओ की शिक्षा के स्तम्भ को सुदृण व् मजबूत बनाना।
  • विकास की प्रक्रिया में बालिकाओ की भागीदारी सुनिश्चित करने के लिए उनके ज्ञान,कौशल व् आत्मविश्वास को मजबूत करने का उद्देश्य है।
  • तकनीकी शिक्षा के द्वारा छात्राएं स्वयं व् समाज के भविष्य निर्माण में अपनी उपस्थिति दर्ज करने में सहायक सिद्ध होगी।

प्रगति छात्रवृत्ति योजना के लाभ

प्रगति छात्रवृत्ति के अंतर्गत मिलने वाला लाभ इस प्रकार है –

  • महिला सशक्तीकरण में यह योजना सहायक सिद्ध होगी।
  • एक परिवार से अधिकतम दो बेटियां को प्रगति छात्रवृत्ति योजना का लाभ मिलता हैं ।
  • शिक्षण सामग्री हेतु AICTE आर्थिक सहायता प्रदान करता है।

Pragati Scholarship Eligibility क्या है ?

➡️ प्रगति योजना के लिए सिर्फ छात्राएं ही पात्र है।
➡️ आवेदनकर्ता भारत का स्थायी निवासी हो।
➡️ इस योजना में आवेदन करने वाली छात्राएं अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद द्वारा मान्यता प्राप्त संस्थानों में प्रथम वर्ष की छात्रा होना अनिवार्य है।
➡️ छात्रा के परिवार की वार्षिक आय ८ लाख से अधिक नहीं होनी चाहिए।
➡️ एक परिवार से अधिकतम दो बेटियां ही इस योजना के लिए पात्र हैं ।
➡️ छात्रा का कॉलेज में प्रवेश चयन परीक्षा के मेरिट लिस्ट के आधार पर होना अनिवार्य है। मैनेजमेंट कोटे के अंतर्गत प्रवेश लेने वाले छात्राओं को इस योजना के लिए पात्र है।

AICTE Pragati Scholarship आवेदन में लगने वाले कागजात

➡️ आवेदक का आधार कार्ड
➡️ तहसीलदार द्वारा जारी आय प्रमाण-पत्र
➡️ आवेदक का 10वीं तथा 12वीं का अंक प्रमाण पत्र
➡️ बैंक खाता
➡️ कॉलेज की ट्यूशन फीस स्लिप
➡️ यदि आवेदक अनुसूचित जाति / अनुसूचित जनजाति / अन्य पिछड़ा वर्ग का है,तो जाति का प्रमाण पत्र
➡️ डायरेक्टर / प्रधानाचार्य / विभागाध्यक्ष द्वारा जारी प्रमाण-पत्र
➡️ पासपोर्ट आकार की फोटो
➡️ आवेदक के अभिवावक द्वारा जारी घोषणा- पत्र

Pragati Scholarship Schme में आवेदन की प्रक्रिया क्या है ?

Pragati Scholarship login करने की प्रक्रिया निम्नवत है –

  • आवेदक सर्वप्रथम ऑफिसियल वेबसाइट https://www.aicte-pragati-saksham-gov.in/ पर क्लिक करे।
  • फिर Register Here पर क्लिक करे ,एक फॉर्म खुलेगा जिसमे अपना विवरण भरकर सबमिट करे।
  • Registration होने के उपरान्त एक आईडी और पासवर्ड प्राप्त होगा।
  • पंजीकरण करते समय आवेदनकर्ता को एक confirmation e-mail link आता है जिससे confirm करना होगा।
  • आईडी और पासवर्ड की सहायता से प्रगति छात्रवृत्ति योजना में लॉगिन करे।
  • लॉगिन के उपरांत छात्रवृत्ति योजना में आवेदन करने के लिए एक फॉर्म खुलेगा जिसमे समस्त विवरण भरकर सम्बंधित दस्तावेज को अपलोड करके सबमिट करे।
  • आवेदन से सम्बंधित जानकारी की सूचना पंजीकृत मोबाइल नंबर व् ई-मेल पर सूचित किया जायेगा।
  • इस प्रकार आवेदन की प्रक्रिया सम्पूर्ण हो जाती है।

How to check Pragati Scholarship 2021-22 List

प्रगति छात्रवृत्ति की मेरिट लिस्ट चेक करने की प्रक्रिया निम्नलिखित है –

  • Homepage पर Scheme Option पर क्लिक करे।
  • फिर Student Development Schemes option पर क्लिक पर क्लिक Pragati Scholarship का पेज खुलेगा जिसमे Batch 2021-22 पर क्लिक करे।
  • आवेदक डिग्री या डिप्लोमा जिसमे आपने आवेदन किया है, उस पर क्लिक करे ।
  • तद्पश्चात चयनित छात्राओं की सूची दिखाई देगी ।छात्राये समस्त जानकारी देख व् चेक कर सकती है।

प्रगति छात्रवृत्ति से सम्बंधित महत्वपूर्ण लिंक

➡️ Official WebsiteClick Here
➡️ Check Merit List For ScholarshipClick Here
➡️ Renewal ScholarshipClick Here

FAQ

Pragati Scholarship क्या है ?

प्रगति छात्रवृत्ति योजना ऐसी बालिकाओ के लिए शुरू किया गया जो तकनीकी शिक्षा के क्षेत्र में अध्यनरत हो। AICTE Pragati Scholarship के द्वारा महिला सशक्तिकरण को बढ़ावा देना तथा तकनीकी शिक्षा के क्षेत्र में बालिकाओ की भागीदारी को बढ़ाना ,सरकार की प्राथमिकता है।

प्रगति छात्रवृत्ति में कौन से कागजात लगते है ?

आवेदक का आधार कार्ड,आय प्रमाण-पत्र,10वीं तथा 12वीं का अंक प्रमाण पत्र, बैंक खाता,कॉलेज की ट्यूशन फीस स्लिप,जाति का प्रमाण पत्र, डायरेक्टर / प्रधानाचार्य / विभागाध्यक्ष द्वारा जारी प्रमाण-पत्र,पासपोर्ट फोटो, अभिवावक द्वारा जारी घोषणा- पत्र

pm-kisan

प्रधान मंत्री किसान सम्मान निधि योजना PM Kisan की सम्पूर्ण जानकारी 2021 {pmkisan.gov.in}

PM Kisan Samman Nidhi Yojana | प्रधान मंत्री किसान सम्मान निधि योजना | pmkisan.gov.in | क्या है PM Kisan Yojna | Online Application – Bank Account Correction PM Kisan | PMKSN

हेलो दोस्तों। उम्मीद है आप सभी अच्छे होंगे। आज हम आपको इस आर्टिकल में प्रधान मंत्री किसान सम्मान निधि योजना की जानकारी देने वाले है । यह योजना भारत सरकार द्वारा चलाई गयी एक बहुत ही बड़ी सफल योजनाओ में से एक है। भारत देश में किसान को हमेशा ही सम्मान की नज़र से देखा जाता है क्युकी ये ही हमारे अन्न दाता है। किसान को खुश रखना और आर्थिक रूप से मजबूत रखना सरकार की बहुत ही बड़ी ज़िम्मेदारी होती है। इसी ज़िम्मेदारी को पूरा करते हुए प्रधान मंत्री किसान सम्मान निधि योजना को लाया गया था ।

pm-kisan

PM Kisan Samman Nidhi Yojana की सम्पूर्ण जानकारी पाने के लिए इस पोस्ट को अंत तक जरूर पढ़े। PM Kisan योजना पिछले वर्ष 2019 में 24 February को प्रधान मंत्री श्री नरेंद्र दामोदरदस मोदी जी द्वारा लाइ गयी थी।

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना (PM Kisan) स्कीम के अंतर्गत भारत सरकार हर साल देश के किसानो को उनके बैंक खाते में 6,000 रुपये भेजती है। इस योजना का उदेश यह है की देश के किसानो की आमदनी में इज़ाफ़ा हो। किसानो को यह धनराशि साल में 3 किस्तों में जो की बराबर की होंगी यानी 2,000 रुपया करके साल में 3 बार में सीधे उनके बैंक खाते में भेजी जाएगी।


PM Kisan Yojana Details – प्रधान मंत्री किसान सम्मान निधि Scheme

सरकार ने छोटे और सीमांत किसानों की आये में वृद्धि लाने के उदेश से 2019 के वित्त वर्ष में एक नयी केंद्रीय योजना लायी जिसके द्वारा हर पात्र किसान को सालाना 6 हज़ार रुपया की राशि सीधे उसके खाते में दी जाये। इस योजना का नाम “प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि” है।

इस योजना का मुख्या उदेश यह है की किसान को उसकी रोज़ी रोटी के लिए पैसा रहे। साथ ही साथ किसान इस पैसे का उपयोग करके खेती में लगा सकता है जिससे की आनाज की उपज बढ़ा सके। यदि कभी किसान की फसल किसी कारण वर्ष नष्ट हो जाती है तो उसको इन 6000 रुपये से काफी सहायता मिल सके यह सरकार का मुख्य उदेश है।

यह पैसा उनको गांव के साहूकारों से पैसा उधार लेने से बचाएगा जिसकी वजह से वो उनलोगो के जाल में फस के मजबूरन अपनी खेती छोड़ कर उनके लिए काम करने को मजबूर हो जाते है।


प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि का उदेश Life Changing Thing For Farmers


PM Kisan Eligibility – प्रधान मंत्री किसान योजना की पात्रता

इस योजना का लाभ उठाने के लिए किसान को नीचे दी गयी चीजों को पूर्ण करना अनिवार्य है।

  • किसान का नाम कचहरी के डेटाबेस में होना चाहिए यानी भूमि के मालिक होना चाहिए। इसका ये भी मतलब है की किसान जिसकी जमीन है सिर्फ उसको ही इस योजना के तहत पैसा मिलेगा नाही उसके पुरे परिवार को
  • किसानो के पास बैंक में बचत खता या फिर जान धन बैंक खाता होना अनिवार्य है क्युकी योजना की राशि उसी में भेजी जाएगी।
  • देश के सभी 14.5 करोड़ किसानो को इस योजना का लाभ मिलेगा। उनके पास कितनी जमीन है इससे कोई मतलब नहीं। पहले सिर्फ 2 हेक्टेयर से काम जमीन वाले किसानो को इस योजना के तहत 6000 रुपया दिए जाने का निर्णय लिया गया था। मगर सरकार ने इस नियम को बदल के यह योजना सभी किसान भाइयो के लिए खोल दी।
  • मल्टी-टास्किंग स्टाफ, चतुर्थ श्रेणी और समूह डी सरकारी कर्मचारी किसान भी इस योजना के लिए पात्र हैं ।
  • आधार नंबर, बैंक खाता नंबर और मोबाइल नंबर आदि।
  • यह योजना केंद्र सरकार द्वारा प्रायोजित है। इसलिए, किसानों को देश का नागरिक होना अनिवार्य है।

PM Kisan Yojana Important Documents – आवेदन के लिए जरुरी दस्तावेज

इस योजना का हिस्सा बनने के लिए नीचे दिए गए कागजात होना अनिवार्य है।

  • नागरिकता प्रमाण पत्र
  • जमीन के कागजात
  • आधार कार्ड
  • बैंक खाता का विवरण

पीएम किसान योजना की अपवर्जन श्रेणियां – Who Will Not Be Eligible For This Scheme Benefits

इस योजना के तहत कुछ श्रेड़ी के लोग इसका लाभ नहीं उठा पाएंगे जिनकी सूचि नीचे दी गयी है । यह ज्यादातर वो लोग है जो उच्च आर्थिक स्थिति के है।

  • सभी संस्थागत भूमि धारक इस योजना का लाभ नहीं ले सकते।

किसान परिवार जिसमें इसके एक या अधिक सदस्य निम्न श्रेणी के हैं:

  • संवैधानिक पदों के पूर्व और वर्तमान धारक हो।
  • पूर्व और वर्तमान मंत्रियों / राज्य मंत्रियों और लोक सभा / राज्यसभा / राज्य विधान सभाओं / राज्य विधान परिषदों के पूर्व / वर्तमान सदस्य, नगर निगमों के पूर्व और वर्तमान महापौर, जिला पंचायतों के पूर्व और वर्तमान अध्यक्ष। इन सभी को यह योजना के अंतर्गत 6000 रुपये की राशि नहीं दी जाएगी।
  • केंद्रीय / राज्य सरकार के मंत्रालयों / कार्यालयों / विभागों और इसकी फील्ड इकाइयों के सभी सेवारत या सेवानिवृत्त अधिकारी और कर्मचारी केंद्रीय या राज्य के सार्वजनिक उपक्रमों और संलग्न कार्यालयों / स्वायत्त संस्थानों के साथ-साथ स्थानीय निकायों के नियमित कर्मचारी (मल्टी टास्किंग स्टाफ / कक्षा IV) / ग्रुप डी कर्मचारी)।
  • सभी सुपरनैच्यूड / रिटायर्ड पेंशनर्स जिनकी मासिक पेंशन-10,000 / – अधिक है (उक्त श्रेणी के मल्टी टास्किंग स्टाफ / चतुर्थ / समूह डी कर्मचारी को छोड़कर)
  • अंतिम मूल्यांकन वर्ष में आयकर का भुगतान करने वाले सभी व्यक्ति भी पीएम किसान योजना से वंचित रहेंगे।
  • डॉक्टर, इंजीनियर, वकील, चार्टर्ड अकाउंटेंट और आर्किटेक्ट जैसे पेशेवर, पेशेवर निकायों के साथ पंजीकृत होते हैं और अभ्यास करते हैं उनको भी इस सूचि में रखा गया है।

PM Kisan Nidhi के तहत लौटाने होंगे पैसे

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि के अन्तर्गत किसानो को जाने वाला पैसा कुछ आयोग्य लाभार्थियो को चला गया है लगभग 33 लाख आयोग्य किसानों के खाते में 2326 करोड़ रुपये भेजे जा चुके है।

केन्द्र सरकार के मुताबिक जो आयोग्य लोग पीएम किसान योजना का लाभ उठा रहे है उन्हे राज्य सरकारें पता लगायेगी और उनके खिलाफ धोखाधड़ी का केस दर्ज करेंगी।इनकम टैक्स देने वाले भी इस योजना का लाभ उठा रहे है।

कौन नही है पीएम किसान योजना का पात्र?

बहुत से ऐसे किसान है जिन्हें इस योजना के बारे में सही जानकारी नही है और वे इसका लाभ ले रहे है।तो आईये जानते है-

जो किसान खेती की भूमि का उपयोग कृषि के अलावा किसी दूसरे काम के लिए कर रहे हैं उनको इस योजना का लाभ नहीं मिलेगा. वहीं जो दूसरों के खेतों में काम करते हैं वह भी इस योजना का लाभ नहीं ले सकते हैं.

वहीं कृषि भूमि का मालिक अगर सरकारी कर्मचारी है या रिटायर हो चुका है उसे भी इस योजना का लाभ नहीं मिलेगा.

इसके अलावा अगर किसी के परिवार का कोई सदस्य इनकम टैक्सपेयर है तो वह भी योजना के लाभ का पात्र नहीं है.

अगर कृषि करने वाले किसान के नाम खेत नहीं है तो उसे इस योजना का लाभ नहीं मिलेगा. अगर खेत उसके पिता या दादा के नाम है तब भी वह इस योजना का पात्र नहीं होगा.

कौन कौन पीएम किसान सम्मान निधि योजना के लिए योग्य है

प्रधानमंत्री किसान सम्मान योजना के लिए कौन कौन एलिजिबल है आइये आज इसके बारे में देखते है।

  • इस योजना के तहत खेती करने वाले किसानों के परिवारों के नाम उनके नाम पर लागू हो सकते हैं
  • शहरी और ग्रामीण दोनों क्षेत्रों के किसान इस योजना के लिए योग्य है।
  • छोटे और सीमांत किसान परिवार इस योजना के लिए योग्य है।

पीएम किसान योजना के लिए आवेदन कैसे करे – How Can I Apply For PM Kisan Yojana

इस योजना के लिए आवेदन करने के लिए किसान भाइयो को नीचे दिए गए तरीके से आवेदन करवाना होगा।

  • किसानों को स्थानीय राजस्व अधिकारी (पटवारी) या एक नोडल अधिकारी (राज्य सरकार द्वारा नामित) से संपर्क करना होगा।
  • कॉमन सर्विस सेंटर (CSCs) को फीस के भुगतान पर योजना के लिए किसानों का पंजीकरण करने के लिए अधिकृत किया गया है।

पीएम किसान योजना के पैसे की जांच कैसे करे की आया की नहीं ?

सरकार हर 4 माह में एक बार 2000 रुपया की राशि भेजती है इस योजना का लाभ उठा रहे किसानो के खाते में। इसको देखने के लिए किसान अपने बचत खाते या जान धन खाते, जहा भी पैसा आता है उसको बैंक में जाके अपना बैलेंस चेक करे। पैसा आया है की नहीं वह से पता चल जायेगा।


प्रधान मंत्री किसान स्कीम की हेल्पलाइन नंबर क्या है ?

यदि आपको पीएम किसान योजना से सम्बंधित कोई भी जानकारी प्राप्त करनी हो या कोई शिकायत हो तो आप पीएम किसान हेल्प डेस्क ( PM Kisan Help Desk) के इ-मेल ईडी (E-mail ID) pmkisan-ict@gov.in पर संपर्क कर सकते है। साथ ही साथ आप पीएम किसान हेल्प डेस्क (PM Kisan Help Desk) cell के फ़ोन नंबर 011-23381092 पर फ़ोन भी करके बात कर सकते है।


नवंबर की किस्त चाहिए तो ये जरूर पढ़े

PM Kisan Yojana – केंद्र सरकार ने 9 अगस्त को 8.5 करोड़ किसानो के खाते में 17 हज़ार करोड़ रुपया ट्रांसफर किये थे। बहुत से किसानो को यह राशि अभी तक नहीं मिली है। इसकी वजह यह है की उनके खाते में कुछ गड़बड़ी है । अगर वह नवंबर की किस्त से पहले उसको ठीक नहीं करेंगे तो उनको आगे की किस्त मिलने में दिक्कत होगी ।

अब आपके खाते में गड़बड़ी क्या है यह आपको पता करना होगा। हो सकता है की आपके नाम में या फिर आधार कार्ड, अकाउंट नंबर या कोई अन्य डॉक्यूमेंट में कमी हो। तो जरूरी यह है की आप इस कमी वो सही करे ताकि नवंबर की किस्त आपकी टाइम पे आ जाये।

आप यह सब ऑनलाइन भी सही कर सकते है। इसके लिए आपको पीएम किसान PM Kisan की ऑफिसियल वेबसाइट पे जाके फार्मर्स कार्नर पे जाके अपडेट आधार कार्ड ऑप्शन पे जाना होग। वह से आप अपने आधार कार्ड नंबर सही सही दर्ज करे और सबमिट कर। सबमिट करने पे OTP आएगी उसको दाल के अपना आधार कार्ड सफलतापूर्वक सही करे।

जरूर से पढ़े:


पीएम किसान क्रेडिट कार्ड

प्रधान मंत्री किसान सम्मान निधि योजना को कृषि विभाग ने किसान क्रेडिट कार्ड से जोड़ दिया है। अब PM – Kisan के लाभार्थी किसानो को क्रेडिट कार्ड भी मिलेगा जिसकी सीमा 3 लाख रुपया होगी जो की वह खेती के लिए लोन के तोर पे ले सकते है। इस केसीसी – KCC Kisan Credit Card से ली गयी धन राशि पे सालाना 4 प्रतिशत ब्याज लगेगा जो की किसान को चुकाना पड़ेगा।

kisan-credit-card-application-form

PM Kisan Samman Nidhi Yojana Wikipedia Link

पीएम किसान योजना की आधिकारिक वेबसाइट pmkisan.gov.in है।

दोस्तों आज मेने आपको ये बताया की पीएम किसान सम्मान निधि योजना क्या है और हमारे किसान भाई इससे कैसे लाभ उठा सकते है । यदि कोई ऐसी जानकारी रह गयी हो जिसके बारे में आप जानना चाहते हो तो आप नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट करके हमसे पूछ सकते है ।

pmayg-pradhanmantri-aawas-yojana-gramin

[PMAYG] Pradhanmantri Aawas Yojana Gramin 2021- पीएम आवास योजना ग्रामीण

PMAYG Beneficiary Registration | पीएम आवास योजना ग्रामीण | PM Awas Yojana Gramin Online | पीएम ग्रामीण आवास योजना फॉर्म

दोस्तो पीएम आवास योजना ग्रामीण की शुरुआत हमारे देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा किया गया।इस योजना की शुरुआत हमारी देश के ग्रामीण परिवेश के लिए जो आर्थिक रुप से कमजोर वर्ग के लिए नये घर बनाने एवं  पुराने घर के मरम्मत केलिए आर्थिक सहायता प्रदान करता है।तो आईये जानते है कि प्रधानमंत्री आवास योजना ऑनलाइन आवेदन कैसे करते है।

देश के हर नागरिक के पास अपना खुद का पक्का घर हो जहाँ बिजली, पानी जैसी सभी बुनियादी सुविधाएं मौजूद हो। इसी उद्देश्य की पूर्ति के लिए देश के प्रधानमंत्री ने अपने पहले कार्यकाल में प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण जिसे प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना (PMAYG) भी कहा जाता है, शुरू की थी।

2015 में शुरू की गई इस योजना से अब तक कई ग्रामीण लाभ पा चुके है। यदि आप भी प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना (PMAYG) का लाभ पाना चाहते हैं और अपना खुद का घर सरकार की मदद से बनवाना चाहते हैं तो इस योजना का लाभ पाने के लिए ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं।

pmayg-pradhanmantri-aawas-yojana-gramin

प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना(PMGAY) 2021.

प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना केंद्र सरकार के द्वारा शुरू की गई एक कल्याणकारी योजना है, जिसके 2022 तक 1 करोड़ लोगों को खुद का घर देने का उद्देश्य रखा गया है।

यह देश की पहली ऐसी योजना है जो आर्थिक तौर पर कमजोर वर्ग, Low Income Group (LIG), Middle Income Group-I और Middle Income Group-II सभी को लाभ दे रही है।

PM ग्रामीण आवास योजना के अंतर्गत इन वर्गों में आने वाले लोगो को होम लोन दिया जाएगा। यह लोन घर से संबंधित खरीददारी के लिए, निर्माण के लिए, घर की मरम्मत करवाने के लिए और घर मे अतिरिक्त निर्माण करवाने के लिए मिलेगा।

इस लोन की सबसे खास बात यह है कि इसकी ब्याज दर में सब्सिडी मिलेगी। अर्थात इसकी ब्याज दर बहुत ही कम होगी।

Concept of Pradhan Mantri Gramin Awas Yojana

योजना का नामप्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना
विभाग का नामग्रामीण विकास मंत्रालय
योजना आरंभ की तिथिवर्ष 2015
ऑनलाइन आवेदन की तिथिAvailable Now
योजना का प्रकारCentral Govt. Scheme
आवेदन का प्रकारऑनलाइन
लाभार्थीआर्थिक रुप से कमजोर ग्रामीण क्षेत्र के लिए
उद्देश्यगरीब परिवारो को नये घर एवं पुराने घर के लिए आर्थिक साहयता
आधिकारिक वेबसाइटhttps://pmayg.nic.in/

PMAYG ग्रामीण आवास योजना का उद्देश्य

हमारा देश एक लंबे वक्त गरीबी से जूझ रहा है, लेकिन अब धीरे धीरे स्थिति सुधर रही है। किसी भी व्यक्ति के जीवन की तीन मूलभूत जरूरतों में से एक खुद का घर भी है।

देश के प्रधानमंत्री भी इस बात को भलीभांति समझते हैं और इसी बात को ध्यान में रखकर देश के हर नागरिक को खुद का घर देने का वादा किया है।

केंद्र सरकार इस योजना में कुल 130075 करोड़ रु. निवेश करने का उद्देश्य रखे हुए हैं। इस योजना के जरिए ग्रामीण लोगों के लिए 1 करोड़ घर बनाने का निर्णय लिया गया है।

इसमे लगने वाली कुल लागत का खर्च 60:40 क्रमशः केंद्र सरकार और राज्य सरकार के द्वारा उठाया जाएगा। यह अनुपात उन ग्रामीण इलाकों के लिए है जो समतल जगह पर है।

वहीं पथरीली इलाकों में केंद्र सरकार और राज्य सरकार 90:10 के अनुपात से खर्च उठाएगी। वही केंद्र शासित प्रदेशों का  पूरा खर्च केंद्र सरकार उठाएगी।

इस योजना के तहत ग्रामीण इलाकों में रहने वाले आर्थिक तौर पर कमजोर लोगों को समतल इलाके में घर बनाने के लिए 1,20,000 रु. और पहाड़ी क्षेत्रों में घर बनाने के लिए 1,30,000 रु. की आर्थिक सहायता दी जाएगी।

EWSLIGMIG IMIG II
Max. Loan Amountरु. 3 लाख तकरू 3-6 लाख6-12 लाख रूरू 12-18 लाख
Interest Subsidy6.50%6.50%4.00%3.00%
Max. Interest Subsidyरु.2,67,280रु.2,67,2802,35,068 रूरु. 2,30,156
Max. Area30 Sq. m.60 Sq. m.160 Sq. m.200 Sq. m.

पीएम आवास योजना ग्रामीण के अन्तर्गत वर्ष भर बांटी गई राशि

Total Hose Completed Against the sanctions made inTotal
2016-173861913
2017-182867233
2018-192382642
2019-203479195
2020-2112590975

प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना के लाभार्थी

  • आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग
  • महिलाएं किसी भी जाति या धर्म की
  • मध्यम वर्ग 1
  • मध्यमवर्ग 2
  • अनुसूचित जाति
  • अनुसूचित जनजाति
  • कम आय वाले लोग

पीएम ग्रामीण आवास योजना से जुड़ी कुछ प्रमुख बातें.

  • इस योजना के तहत लाभार्थी को मिलने वाला पैसा सीधा उनके बैंक खाते में सरकार के द्वारा जमा कर दिया जाएगा।
  • इस योजना के तहत 25 वर्ग मीटर तक के घर बनाने के लिए आर्थिक सहायता दी जाएगी।
  • इस योजना का लाभ पाने वाले व्यक्ति को स्वच्छ ईंधन देने का कार्य भी सरकार करती है।
  • इस योजना का लाभ पाने वाले व्यक्ति के घर से निकलने वाले सूखे एवं गीले कचड़े का प्रबंधन भी सरकार करती है।
  • इस योजना के लाभार्थी के घर तक पीने के स्वच्छ पानी की व्यवस्था भी सरकार करती है।
  • ग्रामीण क्षेत्रों में परिवार के निर्धारण के लिए 2011 की जनगणना की मदद ली जाएगी।

पीएम ग्रामीण आवास योजना की पात्रता

  • लोन के लिए आवेदन करने वाले एवं उसके परिवार के किसी भी व्यक्ति के नाम पूरे देश मे कोई पक्का घर होना चाहिए।
  • लाभार्थी परिवार मकान से संबंधित किसी भी केंद्रीय योजना/राज्य सरकार की योजना का लाभ न ले रहा हो।
  • लाभार्थी की उम्र 70 वर्ष से ज्यादा नही होना चाहिए।
  • Economic Weaker Section (EWS) परिवार की वार्षिक आय 3 लाख रु होना चाहिए।
  • Lower Income Group (LIG-I) परिवार की कुल वार्षिक आय 6 लाख रु होना चाहिए।
  • Middle Income Group-I (MIG-I) परिवार की कुल वार्षिक आय 6-12 लाख के बीच होना चाहिए।
  • Middle Income Group-II (MIG-II) परिवार की कुल वार्षिक आय 12-18 लाख के बीच होना चाहिए।

Pradhan Mantri Awas Yojana Rural Full Statistic Detail

Phase-1Phase-2Phase(1+2)
MoRD Target99,490801239301422302260
Registered1,11,10,193876928319876243
Sanctioned98,42754913547418978301
Completed91,11,573370638212817073
Fund Transferred113622.22 Cr.70292.88 Cr183915.1 Cr.

PMAYG Beneficiary Registration के लिए ऑनलाइन आवेदन कैसे करे?

  • सबसे पहले पीएम ग्रामीण आवास योजना की pmayg official website में जाएं।
  • यहाँ होम पेज पर Data Entry का विकल्प दिखेगा, इस पर Click कर दीजिए।
  • Data Entry पर Click करने के बाद PMAY Rural Online आवेदन करने का Login Link Open हो जाएगा।
  • आपको अपने गाँव के पंचायत या ब्लॉक से एक User Name और Password मिला होगा, जिसे डालकर लॉगिन हो सकते हैं। आप चाहे तो अपने पसंद का नया यूजर नाम और पासवर्ड डाल सकते हैं।
  • अब PMAY Online Login का विकल्प दिखेगा। इस पर Click करते ही आवेदन फॉर्म खुल जायेगा।
  • इसके बाद Form में Personal Details, Bank Account Details, Convergence Details के अलावा अन्य जानकारी भर दें।
  • Personal Details में लाभार्थी और उसके परिवार की सभी जानकारी भरना है।
  • इसके बाद फॉर्म को सबमिट कर देना है।
  • फॉर्म में किसी भी तरह का संशोधन करने के लिए पोर्टल में लॉगिन आईडी और पासवर्ड की मदद से दोबारा लॉगिन होना पड़ेगा।

लाभार्थी अपना नाम सूची में कैसे देखें?

यदि आपने ग्रामीण आवास योजना के लिए आवेदन कर दिया है और आवेदन की स्थिति देखना चाहते हैं तो यह भी ऑनलाइन कर सकते हैं। इसके लिए कुछ स्टेप्स अपनाने होंगे।

  • सबसे पहले ग्रामीण आवास योजना की आधिकारिक वेबसाइट http://pmayg.nic.in/ पर जाएं।
  • अब Home Page में Stakeholders का विकल्प दिखेगा, इस पर जाना है।
  • यहाँ IAY/PMAY Beneficiary का विकल्प मिलेगा, इसे चुनना है।
  • अब एक नया पेज खुलेगा जिंसमे आप अपना Registration Number डालकर सबमिट कर दीजिए।
  • सबमिट करते ही Beneficiary की पूरी जानकारी सामने आ जायेगी।

Pradhanmantri Gramin Aawas Yojana Latest Update.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उत्तरप्रदेश के 6.1 लाख ग्रामीण लोगो को 21-1-2021 को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये सौगात दी है।

इस दौरान उन्होंने 6.1 लाख ग्रामीण लाभार्थियों के खाते में 2,690 करोड़ रु कुल पैसे ट्रांसफर किये हैं। कुल लाभार्थियों में से 5.3 लाख लाभार्थी को 2020-21 के तहत पहली किश्त मिली है।

जबकि 80 लाख लाभार्थियों को यह दूसरी क़िस्त मिली है। इस दौरान प्रधानमंत्री जी ने कहा कि यह घर उनको एक नए आत्मविश्वास से भर देगा।

प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना एप्लीकेशन फॉर्म

प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण में लाभ लेने वाले लाभार्थियों को 2011 की जनगणना जिसमें सामाजिक,आर्थिक जाति के आकड़ों के आधार पर किया जा रहा है। PM Awas Yojana Gramin Online 2021 के लिए आनलाईन एवं आफलाईन आवेदन करने का प्रावधान है जिसे आप जनसेवा केंद्र(CSC) के माध्यम से भी ऑनलाइन आवेदन कर सकते है |

Pradhan Mantri Janani Suraksha Yojana

Pradhan Mantri Janani Suraksha Yojana 2021 – प्रधानमंत्री जननी सुरक्षा योजना के विषय में पूरी जानकारी ?

Pradhan Mantri Janani Suraksha Yojana | Application Form JSY | PMJSY

अक्सर ऐसा होता है, हमारे देश की सरकार नवजात शिशु और गर्भवती महिलाओं की स्थिति में सुधार कार्य हेतु समय-समय पर कुछ योजनाएं आरंभ करती रहती हैं, आज हम आपको ऐसी ही एक योजना के बारे में बताएंगे जिसका नाम है Pradhan Mantri Janani Suraksha Yojana. इस पोस्ट में हम आपको हमारे आर्टिकल के माध्यम से JSY Benefits के बारे में संपूर्ण जानकारी देंगे। जैसे कि जननी सुरक्षा योजना क्या है तथा JSY Benefits

Pradhan Mantri Janani Suraksha Yojana

Janani Suraksha Scheme PMJSY का फायदा भारत के सभी नवजात शिशु तथा गर्भवती महिलाओं को दिया जाएगा। परंतु सरकार के द्वारा Janani Suraksha Yojana Guidelines जारी की गई है, हमें उनके बारे में भी जानना होगा चलिए, अब हम विस्तार से जानेंगे कि Janani Suraksha Yojana Benefits क्या है।

Ek Parivar Ek Naukri 2021

Pradhan Mantri Janani Suraksha Yojana?

Janani Shishu Suraksha Yojana का आरंभ हमारे भारत के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के माध्यम से किया गया है, Pradhan Mantri Janani Suraksha Yojana Scheme के तहत भारत की सभी गर्भवती महिलाओं को सरकार के द्वारा काफी आर्थिक सहायता दी जाएगी। और Janani Suraksha Yojana के द्वारा देश के नवजात शिशु तथा गर्भवती महिलाओं की स्थिति में बहुत ज्यादा सुधार किया जाएगा परंतु इस योजना का लाभ केवल उन्हीं महिलाओं तथा नवजात शिशुओं को दिया जाएगा।

जो गरीबी रेखा से नीचे अपना जीवन यापन करती हैं, परंतु Pardhan Mantri Janani Suraksha Yojana के तहत सभी नवजात शिशु तथा गर्भवती महिलाओं को दो प्रकार की श्रेणियों में बांटा जाएगा। जिसके आधार पर ही सरकार के द्वारा उन्हें सहायता भी प्रदान की जाएगी। चलिए हम आपको उन श्रेणियों के बारे में भी विस्तार से बताते हैं।

1. ग्रामीण क्षेत्रों की गर्भवती महिलाएं

Janani Shishu Suraksha Yojana के तहत वह सभी महिला जो गर्भवती हैं, और वह अपना जीवन गरीबी रेखा से नीचे व्यतीत करती हैं। तो उन महिलाओं को सरकार के द्वारा Janani Suraksha Yojana Cash Incentive के तहत 1400 रुपए की आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी। इसके अतिरिक्त उन्हें प्रोत्साहन के लिए 300 रुपए अलग से दिए जाएंगे।

2. शहरी क्षेत्रों की गर्भवती महिलाएं

Pardhan Mantri Janani Suraksha Yojana के अंतर्गत हर एक गर्भवती महिला को प्रसव के समय ₹1000 की सहायता प्रदान की जाएगी। इसके अतिरिक्त जो आशा सहयोगी हैं, उन्हें ₹200 प्रदान किए जाएंगे।

Janani Suraksha Yojana Scheme

देश की जो भी लाभार्थी महिला Pradhan Mantri Janani Suraksha Yojana (PMJSY) के अंतर्गत सरकार की इस स्कीम का लाभ उठाना चाहती है, तो उन सभी गर्भवती महिलाओं को इस योजना के अंतर्गत आवेदन करना होगा, वह सरकारी हॉस्पिटल या फिर मान्यता प्राप्त निजी अस्पतालों मे अगर गर्भवती महिला प्रसव कराती है, तो वह महिला प्रधान मंत्री Janani Suraksha Yojana Scheme का लाभ उठा पाएगी, और सरकार के द्वारा दी जाने वाली धनराशि महिलाओं के Bank Account में ही दी जाएगी इसीलिए बैंक अकाउंट होना बहुत आवश्यक है, और Bank Account आधार कार्ड से लिंक होना आवश्यक है।

Janani Suraksha Yojana Benefits  – Pardhan Mantri Janani Suraksha Yojana Ke Fayde?

  • जैसे कि आप सभी लोग भली-भांति जानते ही हैं कि जो महिला गरीबी रेखा से नीचे होती है वह महिला अपनी गर्भावस्था के समय अपने स्वास्थ्य से संबंधित अपनी जरूरतों को पूरा नहीं कर पाती क्योंकि आर्थिक तंगी के कारण घर का खर्च आई बड़ी मुश्किल से चल पाता है और ग्रामीण क्षेत्रों में चिकित्सा की सभी सुविधाओं का लाभ उठाना बड़ी ही मुश्किल बात होती है इसीलिए इन सभी समस्याओं को देखते हुए Pardhan Mantri Janani Suraksha Yojana के तहत गर्भवती महिलाओं को अच्छी चिकित्सा प्रदान की जाएगी और उनकी आर्थिक सहायता की जाएगी जिसके कारण ग्रामीण महिलाओं की मृत्यु दर भी काफी हद तक कम हो जाएगी और अस्पताल वाले बच्चों को भी मृत्यु से बचा पाएंगे
  • Janani Shishu Suraksha Yojana के तहत गरीब महिलाएं भी गर्भावस्था के समय हॉस्पिटल में अपनी डिलीवरी सुरक्षित करवा पाएंगे। जिससे उनका बच्चा ज्यादातर बीमारियों से बच जाएगा और वह सुरक्षित रहेगा।
  • इस योजना के तहत सरकार के द्वारा गर्भवती महिलाओं को आर्थिक सहायता भी प्रदान की जाएगी, परंतु महिला की आयु 19 वर्ष से अधिक होनी चाहिए।
  • अगर गर्भवती महिलाएं मृत बच्चे को जन्म देती हैं, और या फिर समय से पहले वह बच्चे को जन्म देती हैं, तो भी उन गर्भवती महिलाओं को इस योजना का लाभ मिलेगा।
  • बच्चे की निशुल्क डिलीवरी के पश्चात जब तक बच्चा 5 साल का नहीं हो जाता, जब तक उसके टीकाकरण से संबंधित सभी जानकारियां उन्हें भेजी जाती है, और बच्चे का निशुल्क टीकाकरण भी सरकार के द्वारा ही करवाया जाएगा।
  • गर्भवती महिला की Delivery के पश्चात जो भी Injection महिला को लगाए जाते हैं, वह सभी सरकार के द्वारा मुफ्त में उपलब्ध कराए जाएंगे।
  • Pradhan Mantri Janani Suraksha Yojana  के अंतर्गत Registration कराने वाली सभी महिलाओं के 2 Delivery Check up मुफ्त में कराए जाएंगे। इसके अतिरिक्त डिलीवरी तक उनकी स्वास्थ्य संबंधित सभी सहायता की जाएगी।

Janani Suraksha Yojana का लाभ उठाने के लिए जरूरी दस्तावेज?

  • आवेदन करने वाली महिला का Aadhaar Card
  • BPL राशन कार्ड
  • Residence Certificate
  • Address Proof
  • Bank Account Passbook
  • Mobile Number
  • Passport Size Photo
  • सरकारी अस्पताल के द्वारा जारी डिलीवरी सर्टिफिकेट

Janani Suraksha Yojana Form कैसे भरे – How To Apply For Janani Suraksha Yojana ?

जो भी गर्भवती महिलाएं Pradhan Mantri Janani Suraksha Yojana Scheme का लाभ उठाना चाहती है, तो उन महिलाओं को Ministry Of Health and Family Welfare की Official Website पर जाकर Pradhan Mantri Janani Suraksha Yojana Form भरना होता है परंतु चिंता की बात नहीं है, यदि आप खुद से Form Fill up नहीं कर सकते तो आप अपने नजदीकी किसी भी CSE Centre पर जाकर आवेदन कर सकते हैं, या फिर किसी भी Computer Cafe से भी आप आसानी से आवेदन कर सकते हैं, आवेदन करने के पश्चात आपको जो भी डॉक्यूमेंट मिलता है उसमें अपने सभी डॉक्यूमेंट को अटैच कर आना होता है, उसके पश्चात वह डॉक्यूमेंट आपको अपने नजदीकी आंगनवाड़ी में जमा कराना होता है।

यदि आप Janani Suraksha yojana का लाभ उठाना चाहते हैं तो हम आपको एक Link दे रहे हैं, आप इस लिंक के माध्यम से आप Pardhan Mantri Janani Suraksha Yojana के बारे में संपूर्ण जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

Offical Website Linkhttps://nhm.gov.in/

Conclusion

आशा है, कि आप को Pardhan Mantri Janani Suraksha Yojana के बारे में संपूर्ण जानकारी मिल गई होगी। हमने आपको हमारी इस पोस्ट के माध्यम से हाल ही में प्रधानमंत्री के द्वारा चलाई गई Janani Suraksha Yojana Guidelines विस्तार से बताई है। ताकि आप भी Janani Suraksha Yojana का फायदा उठा सकें। यदि अब भी Janani Shishu Suraksha Yojana से संबंधित कोई प्रश्न रह गया हो, तो आप हमसे वह कमेंट सेक्शन में अवश्य पूछें, हम आपको उसका जवाब कमेंट सेक्शन में जरूर देंगे। धन्यवाद

Ek-Parivar-Ek-Naukri-Yojana-Registration

[*Sarkari Yojana*] एक परिवार एक नौकरी योजना | Ek Parivar Ek Naukri 2021 Apply Online

एक परिवार एक नौकरी योजना | Ek Parivar Ek Naukri 2021 Registration| www.epesny.nic.in

Ek Parivar Ek Naukri Yojana 2021 Online Application Form – दोस्तों आज हम आपको एक ऐसी योजना के बारे में बताने जा रहे जिसकी सीधा संबन्ध सरकारी नौकरी से है तो आईये जानते है एक ऐसी योजना जिसका नाम “ek parivar ek naukri” है

Ek-Parivar-Ek-Naukri-Yojana-Registration

एक परिवार एक नौकरी योजना | Ek Parivar Ek Naukri

ek parivar ek naukri yojana खासकर उन गरीब परिवारों के लिए जिनके पास सरकारी नौकरी पानेकी कोई उम्मीद नही होती है जिससे उन्हे काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है इस योजना यही सोच के साथ शुरुआत कि गई कि किसी भी गरीब व्यक्ति को बिना किसी परेशानी के नौकरी मिल जाये। इन्ही परिस्थितियों को ध्यान में रखते हुए केंद्र सरकार ने उन परिवार वालो के लिए ek parivar ek naukri  योजना की शुरुआत की है।

रोजगार मेला उत्तर प्रदेश 2020 – UP Rojgar Mela – Sewayojan Registration

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि ek parivar ek naukri yojana 2020 के तहत भारत सरकार हर परिवार के किसी भी एक सदस्य को एक सरकारी नौकरी दी जायेगी लेकिन इसके लिए एक शर्त है कि उस  परिवार को कोइ सदस्य सरकारी नौकरी मे नही होना चाहिये।

Ek Parivar Ek Naukri Yojana का उद्देश्य क्या है

भारत के ज्यादातर युवा योग्य होते हुये भी बेरोजगार है और सरकारी नौकरी पाने मे असमर्थ है इसलिए भारत सरकार के द्वारा चलाई जा रही Ek Parivar Ek Naukri Yojana 2020 का मुख्य उद्देश्य है कि देश के युवाओं को रोजगार देना जिससे कि वे वित्तीय रुप से सक्षम हो जायें

 Ek Parivar Ek Naukri Yojana 2021  के लिए पात्रता क्या होनी चाहिये-

  • इस योजना में नौकरी पाने वाले व्यक्ति की आयु 18 – 55 साल के बीच होनी चाहिए।
  • ऐसे परिवार जिसके किसी भी सदस्य के नाम पक्का मकान हो उस परिवार का कोई भी सदस्य इस योजना का लाभ नही उठा सकता है।
  • इस योजना में नौकरी का आवदेन करने के लिए महिलाओं को प्राथमिकता दी जाएगी।
  • साथ ही इस योजना का लाभ वही व्यक्ति उठा सकता है जिसके परिवार की वार्षिक आय 3 लाख रूपये से कम हो।
  • इस योजना के अंतर्गत नौकरी पाने वाला व्यक्ति भारत का नागरिक होना अनिवार्य है।
  • योजना के अंतर्गत भारत के किसी भी राज्य के गरीब परिवार के युवाओं को नौकरी दी जाएगी।
  • आवदेक के परिवार के किसी भी सदस्य के पास सरकारी नौकरी नही होनी चाहिए। जिस परिवार से कोई भी व्यक्ति सरकारी नौकरी में लगा हुआ होगा वह परिवार इस योजना का लाभ नही उठा सकता है।

एक परिवार एक नौकरी योजना  के लाभ-

  • इस योजना का लाभ पाने वाले व्यक्ति को 2 वर्ष के प्रोबेशन पीरियड में रखा जायेगा।यदि उस व्यक्ति का काम करते समय कार्य में कोई गड़बड़ी नही कि तो उसे उस नौकरी में स्थायी रुप से ले लिया जाता है।
  • इस योजना का सबसे बड़ा लाभ यह है कि इसका वेतन पे स्केल के हिसाब से मिलता है
  • इस योजनाके तहत सभी सरकारी भत्ते दिये जायेगे।
  • इसके अन्तर्गत कोई भी व्यक्ति अपनी शिक्षा एवं स्किल के अनुसार मनपंसद नौकरी पा सकता है।

Rojgar Panjiyan Online Registration form MP

Ek Parivar Ek Naukri Yojana Registration कैसे करें

दोस्तो अभी ये योजना केवल सिक्किम राज्य में ही शुरु किया गया है बहुत जल्दी अन्य राज्य के लोग भी इस योजना का लाभ ले पायेगें। Ek Parivar Ek Naukri Yojana Registration के लिए अभी आपको इंतजार करना पड़ेगा

सिक्किम राज्य पहला राज्य होगा जिसने इस योजना को अपने राज्य मे लागू किया

  • ऑनलाइन आवेदन शुरू होने पर आप सबसे पहले आधिकारिक वेबसाइट पर जाए। या फिर इस लिंक पर सीधा क्लिक करे – https://www.sikkim.gov.in
  • आधिकारिक पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन या ऑनलाइन आवेदन का लिंक देख कर क्लिक करें
  • अब ऑनलाइन आवेदन फॉर्म खुल जायेगा जिसमें आपको मांगी गई सारी जानकारी सही से देनी होगी | आवेदन समाप्त होने पर आवेदन क्रमांक या एप्लीकेशन नंबर नोट कर के रख लें

FAQ’s

  1. सिक्किम राज्य केआलावा बाकी राज्य में कब तक लागू होगा?

    यह अभी कहना काफी मुश्किल होगा लेकिन बहुत जल्द इस योजना को लागू करने की योजना है

  2. एक परिवार एक नौकरी योजना के लिए कब से आनलाईन आवेदन शुरु होगा?

    पहले इस ये योजना पूरे देश में लागू कि जायेगी फिर उसके बाद आप जिस राज्य के निवासी होगे उसी राज्य से आनलाईन आवेदन कर सकेगे।

  3. Ek Parivar Ek Naukri scheme का उद्देश्य क्या है?

    इस योजना का मुख्य उद्देश्य है कि सभी गरीब परिवारो में से किसी भी एक व्यक्ति को सरकारी नौकरी प्रदान कराना।

Agriculture-Act-2020

Agriculture Act 2021: क्या है क्रषि अधिनियम MSP, APMC Act जाने व्याख्या के साथ

Agriculture Act 2021 | What is MSP | MSP Software

Agriculture Act 2021 in Hindi:दोस्तों आज हम इस लेख में Agriculture Act 2020 के बारें में बतायेगें।Agriculture Bill जो कि राष्ट्रपति के द्वारा पास करके उसे एक्ट बना दिया गया है।कृषि विधेयक बिल में एक ऐसा इकोसिस्टम बनाय जायेगा कि जहां किसानों और व्यापारियों को मंडी से बाहर फ़सल बेचने की आज़ादी होगी.

दोस्तो कई दशको के बाद भारत की क्रषि क्षेत्र में बहुत बड़ा बदलाव किया गया है सरकार के द्वारा किये गये इस बदलाव के अन्तर्गत तीन विधेयको को क्रषि सुधार में काफी अहम माना जा रहा  है।जैसा की हमारे प्रधानमंत्री जी का कहना है कि इससे किसानो का आय में व्रध्दी होगी।

बीते जून में ही केद्रिय मंत्री मण्डल ने क्रषि क्षेत्र में अहम सुधारो के लिए तीन अध्यादेशो   को दी थी मंजूरी

इन दिनो क्रषि बिल एवं किसान आंदोलन काफी चर्चा में है।संसद में पारित हुए क्रषि सुधार से जुड़े तीन क्रषि विधेयक तो आइये जानते है तीनो क्रषि विधयेक के बारें में

Agriculture-Act-2020

Aatm Nirbhar Bharat Abhiyan Yojana के लिए कैसे करें आवेदन

Agriculture Act 2020

क्रषि उपज वाणिज्य एवं व्यापार (संवर्धन एवं सुविधा विधेयक) 2020 

  • किसानो एवं व्यापारियों को मंडी से बाहर फसल बेचने की होगी आजादी
  • फसल की बिक्री पर कोई टैक्स नही लगेगा
  • पेमेंट की शर्ते तय करने और विवाद के निपटारे के लिए एसडीएम स्तर के अधिकारी या उसके द्वारा नियुक्त आर्बिटेशन कमेटी अधिक्रत की किया जायेगा
  • विधेयक में किसानो की उपज (Farm Produce) का अर्थ है
  • इसके अन्तर्गत खाद्य पदार्थ जैसे गेंहूं,और चावल तिलहन तेल सब्जिया फल मसाला,मुर्गी पालन सूअर पालन बकरी पालन एवं मत्स्य पालन डेयरी आदि के उत्पाद,कच्चा कपास जूट और पशुचारा

मूल्य आश्वासन पर किसान (बंदोबस्ती एवं सुरक्षा) समझौता और क्रषि सेवा विधेयक 2020

  • इस बिल में देश भर में कांट्रैक्ट फार्मिंग (Contract Farming) को लेकर व्यवस्था बनाने का प्रस्ताव
  • पहले से तय कीमत और गुणवात्ता मानको के आधार पर फसल खरीद का हो सकता है कांट्रैक्ट
  • कांट्रैक्ट फार्मिंग के जरिये कंम्पनियो को अपनी कीमत पर फसल बेच सकेगे किसान

आवश्यक वस्तु (संशोधन) विधेयक 2020

  • आवश्यक वस्तु अधिनियम 1955 में हुआ संशोधन
  • अनाज दाल तिलहन खाद्य तेल प्याज और आलू जैसी वस्तुएं आवश्यक वस्तुओं से बाहर अगर जरुरत पड़ने पर स्टाक लिमिट हटी
  • युद्द,अकाल,आसाधारण मूल्य व्रद्दि और प्राक्रतिक आपदा जैसी स्थितियो इन उत्पादो का हो सकेगा विनिमय
  • इन उत्पादों की खरीद बिक्री और देश भर में आवाजाही पर भी कोई प्रतिबंध नही होगा

Agriculture Act 2020 के विवादित टर्म

  • व्यापार क्षेत्र” ,व्यापारी,बाजार शुल्क एवं विवाद समाधान के प्रावधान पर विवाद
  • व्यापार के क्षेत्र  की परिभाषा एपीएमसी एक्ट(APMC Act) के तहत स्थापित मौजूदा मंडी बाहर
  • एक व्यापारी एपीएमसी मंडीऔर व्यापार क्षेत्र दोनो मे कर सकता है काम,इससे किसानो के द्वारा व्यापारीयो पर भरोसा करना मुश्किल हो सकता है।
  • व्यापार क्षेत्र के अंदर किसान या व्यापारी पर कोई भी बाजार शुल्क या उपकर या लेवी लागू करने की इजाजत नही
  • विवाद निवारण तंत्र पर आक्षेप सुलह की प्रस्तावित प्रणाली का किसानों के खिलाफ इस्तेमाल करने का डर

सरकार के द्वारा दिया गया तर्क

  • किसान किसी भी बाजार में मनचाही कीमत पर बेच सकेगा अपनी फसल किसानों को मिलेगे बेहतर विकल्प
  • किसानो कीमंडी में जाकर लाईसेंसी व्यापारियो को ही अपनी उपज बेचने की मजबूरी खत्म
  • सरकार के अनुसार एक देश एक क्रषि बाजार सोच को बढ़ावा मिलेगा
  • उत्पादको को नही उठाना पड़ेगा बाजार के उतार चढाव का जोखिम
  • किसानो को अपने भुगतान के लिए चक्कर नही लगाने पड़ेगे इसके लिए समयावधि सुनिश्चत होगी और विवाद का निपटारा भी जल्दी होगा

Agriculture Act 2020:किसान बिल का विरोध क्यों?

आइये जानते है कि यदि सरकार किसानो के लिए फायदे का बात कर रही है तो फिर उसका विरोध क्यो हो रहा है।

  • किसान एवं व्यापारियो को इन विधेयकों से APMC मंडियां खत्म करने की अंशका
  • नये कानून के बाद सरकार के द्वारा न्यूनतम समर्थन मूल्य MSP पर फसलों का खरीद बंद कर देने का डर
  • क्रषि क्षेत्र के कारपोरेट घरानो के हाथो में जाने और किसानो को नुकसान होने की अंशका
  • कांट्रैक्ट फार्मिगं से किसानो का शोषण बढ़ने की अंशका
  • काला बजारी और जमा खोरी  को बढावा

सरकार को क्या करना चाहिये?

  • केन्द्र सरकार को किसानों सहित विधेयको के विरोध करने वालों तक पहुच कर उन्हें सुधार की जरुरत समझानी चाहिये
  • क्रषि क्षेत्र में निजी क्षेत्र को बढ़ावा दिये जाने के साथ APMC की पहुंच में विस्तार के लिए हों जरुरी सुधार
  • मजबूत संस्थागत व्यवस्था बनाने और क्रषि अवसंरचना में सुधार पर ध्यान केन्द्रित करने की जरुरत
  • e-Nam जैसे नवीन प्रयासो के जरिये क्रषि क्षेत्र में e-Trading को बढावा मिले
  • क्रषि उपज पर न्यूनतम समर्थन मूल्य के संदर्भ में स्वामीनाथन सिमिति की सिफारिशें लागू हो

न्यूनतम समर्थन मूल्य(MSP) क्या हैWhat is MSP

MSP full form – Maximum Selling Price

  • MSP भारत सरकार द्वारा किसानो को मूल्यों में अत्याधिक गिरावट के विरुद्ध सुरक्षित करने के लिए नियत किया गया मूल्य है।
  • भारत सरकार के द्वारा क्रषि लागत और मूल्य आयोग (CACP) की अनुशंसाओ के आधार पर कुछ फसलों की बुवाई सत्र के आरम्भ मे MSP की घोषणा की जाती है।

APMC Act क्या है?

  • 1970 के दशक में Agriculture Produce Marketing Act (APMC Act) के तहत क्रषि विपणन समितियां बनी थी।इसे ही शार्ट फार्म में एपीमसी कहा जाता  है
  • बाजारों में व्यवस्था लाने और बिचौलियों के हाथों किसानो का शोषण रोकने की दिशा में सराहनीय काम है
  • अधिकांश राज्यों में अपने अपने एपीएमसी कानून थे लेकिन केन्द्रीय स्तर पर कानून आने के बाद इसका असली मकसद पूरा नही हो पाया

Agriculture Produce Marketing Act (APMC Act) के नुकसान

  • इससे मंडी ढांचे में बढ़ोत्तरी तो हुई लेकिन यह सरप्लस एग्री कमोडिटी की खरीद बिक्री में व्रद्दि से तालमेंल नही बिठा पाया।
  • समय बीतने के साथ ही कई राज्यों नें एपीएमसी मंडियों में वसूले जाने वाले शुल्क हद से ज्यादा बढा दिये। पंजाब में 14.5%,हरियाणा में 11.5%
  • APMC Act के तहत राज्य सरकार जो भी चार्ज या सेस तय करें उससे अंतत: भरते है किसान ही।
  • पंजाब में ही 48000 आढ़तिये रजिस्टर्ड है।
  • टाईम्स आफ इण्डिया की एक रिपोर्ट कहती है कि यह (Farm to Fork) व्रद्धि भारत में 65 प्रतिशत तक ही हो सकती है जबकि उत्तरी यूरोप 10 फिसदी और इंडोनेशिया जैसे विकासशील देशो 25 फीसदी की होती है।
  • संविधान की सातवी अनूसूची मे राज्य सूची की 28वीं प्रविष्टी में इसका स्पष्ट उल्लेख है

Agriculture Act 2020 : न्यू अपडेट

  • क्रषि सुधारो के लिए संसद में पारित कानूनो के अस्तित्व में आते ही क्रषि क्षेत्र में निवेश का रास्ता साफ हो गया।सहकारी क्षेत्र की प्रमुख संस्था नैफेड(भारतीय राष्ट्रीय क्रषि सहकारी विपणन संघ लिमिटेड) ने साल भर मे देश में सौ से अधिक मंडिया स्थापित करने का फैसला किया है। महाराष्ट्र राज्य का पुणे में पहली मंडी खुल गई है।किसान उत्पादक संगठनों और सहकारी सोसाईटियों के साथ मिलकर नैफैड ने यह बडडी पहल की है।इन मंडियों में बुनियादी सुविधाओं  की विकास नैफेड कि ओर से किया जायेगा।जबकि उनका नियमित संचालन किसान उत्पादक संगठनों का प्रबंधन करेगा।
  • सरकार की मशा के अनुरुप परंपरागत मंडियों के समानान्तर इन निजी मंडियों में किसानों के हित में सभी सुविधाएं मुफ्त में उपलब्ध कराई जायेगी।
  • पहली नैफेड किसान मंडी पूणे में 30 एफपीओ के साथ मिलकर स्थापित की जायेगी।
  • वहीं दूसरी मंडी महाराष्ट्र राज्य के नासिक के पास ढोलफरे में जल्द स्थापिक कि जायेगी।इसमें तौल की आधुनिक मशीने , उपज का नीलामी स्थल शंटिग,ग्रेडिंग,नमी वाली उपल को सुखाने की आधुनिक मशीने,कुलिंग एवं पैकिंग की व्यवस्था प्रमुख तौर पर होगी।
DBT-Agriculture-Bihar

DBT Agriculture Bihar: (बिहार किसान पंजीकरण) Farmer Registration Bihar 2021

DBT Agriculture Bihar Registration | @ dbtagriculture.bihar.gov.in | 🔥🔥DBT Agriculture Bihar Govt | किसान ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन बिहार

DBT-Agriculture-Bihar

दोस्तों जैसा कि आप जानेत है कि भारत एक क्रषि प्रधान देश है और क्रषि हमारे देशकी अर्थ व्यवस्था में काफी मददगार है। तो आप DBT Agriculture Department @ dbtagriculture.bihar.gov.in भारत के किसानोंके लिए DBT Agriculture portal के लिए एक पोर्टल की सुविधा प्रदान की है।इसके अन्तर्गत भारत के किसानों को कई योजनओ का लाभ मिलेगा। तो आईये जानते है DBT Bihar –  किसान ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन बिहार के बारेमें।

Agriculture Act 2020: क्या है क्रषि अधिनियम MSP, APMC Act जाने व्याख्या के साथ

🔥DBT Agriculture Bihar🔥

बिहार एक ऐसा राज्य है जहां कृषि पर निर्भर बड़ी आबादी है। बिहार की अर्थव्यवस्था में कृषि की भूमिका भी प्रमुख है, इसमें ज्यादातर छोटे और सीमांत किसान हैं। ऐसे में कृषि और किसानों की जरूरतों को पूरा करना सरकार की जिम्मेदारी है। सरकार अपने दायित्व को पूरा करने की कोशिश करते हुए किसानों के लिए कई सब्सिडी और ऋण योजनाएं चला रही है।

भारत सरकार के द्वारा किसानो को लाभ देने के लिए जो भी योजनाए चलाई जाती है उन योजनाओ का कार्यान्वन DBT Agriculture Bihar Department के द्वारा किया जाता है

DBT Agriculture India केंद्र सरकार के द्वारा चलाई जा रही योजना है लेकिन DBT Agriculture के अन्तर्गत भारत के अन्य राज्य के लिए अलग अलग DBT Agriculture portal बनायें गये है जिसके द्वारा उस राज्यो के किसानों का रजिस्ट्रेशन kisan registration किया जाता है जिससे वे उस राज्य में चल रही योजनाओं का लाभ ले सकते है।

इस योजना के अंतर्गत पंजीकृत किसानो  एग्रीकल्चर पोर्टल पर विभिन्न प्रकार की योजनाओ का भी लाभ प्रदान किया जा रहा है जिसकी पूरी सूची हमने नीचे दी हुई है। इस सूची कोविस्तारपूर्वक पढ़े और लाभ उठाये।

  • प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना
  • जल जीवन हरियाली
  • प्रधानमंत्री कृषि सिचाई योजना
  • डीजल अनुदान योजना
  • कृषि यांत्रिकरण योजना
  • जैविक खेती अनुदान योजना
  • बीज अनुदान योजना
  • कृषि इनपुट अनुदान योजना
  • कृषि इनपुट रबी योजना

DBT AGRICULTURE PORTAL BIHAR /प्रत्यक्ष लाभ अंतरण ,कृषि विभाग, बिहार सरकार

बिहार राज्य के किसानो को भारत एवं बिहार राज्य की योजनाओं का लाभ उन तक पहुंचाने के लिये DBT Bihar की शुरुआत की गई। जिसके लिए आप @ dbtagriculture.bihar.gov.in से आप अपना रजिस्ट्रेशन कराना अनिवार्य होगा।

तो आईये जानते है DBT AGRICULTURE /प्रत्यक्ष लाभ अंतरण, कृषि विभाग के बारे में

  • योजना का नाम – DBT Agriculture Bihar
  • राज्य – बिहार
  • किसान रजिस्ट्रेशन स्टेटस-
  • DBT Bihar Official Website –  https://dbtagriculture.bihar.gov.in/
  • किसानो को मिलने वाला लाभ –  भारत सरकार एवं राज्य के सभी योजनाओं का लाभ केवल पंजीक्रत किसानो को ही मिलेगा

प्रधानमंत्री आवास योजना ऑनलाइन आवेदन | Pradhan Mantri Awas Yojana Gramin 2021 | Pradhan Mantri Awas Yojana Registration

Important Notice for Farmer In India

राज्य के कृषकों को कृषि कार्य में करोना संक्रमण से बचने हेतु दिशा-निदेश :महत्वपूर्ण संदेश

➡️ फसल कटनी एवं दौनी का कार्य यथासंभव समय से पूरा किया जाय तथा इसके लिए आधिकाधिक मशीन यथा रीपर कम बाइंडर, थ्रेशर आदि का उपयोग किया जाय। हस्तचालित यंत्र तथा हँसिया आदि के उपयोग के समय दिन में कम से कम तीन बार उपकरण को साबुन पानी से अच्छी तरह धोकर संक्रमण रहित किया जाय। मशीन के चालन हैंडिल, स्टीयरिंग की विशेष सफाई की जाए।

➡️ फसल कटनी एवं दौनी करते समय खेत में या थ्रेशिंग फ्लोर पर एक दूसरे व्यक्ति के बीच कम से कम दो मीटर की दूरी बनाकर रखी जाय। यह जान लें की संक्रमण रोकने के लिए ही समाजिक दूरी सबसे उपयोगी हथियार है।

➡️ मजदूर अपने खाने का बर्तन अलग-अलग रखें तथा खाना खाने के बाद इसे अच्छी तरह धो लें। पीने के पानी का बोतल अलग-अलग रखें। प्रत्येक व्यक्ति अलग- अलग कटाई उपकरण का उपयोग करें। एक दूसरे के यंत्र को बदल-बदल कर कदापि उपयोग नहीं करें।

➡️ कटनी एवं दौनी के दौरान कुछ कुछ समय पर साबुन पानी से हाथ धोते रहें।

➡️ कटनी एवं दौनी के समय पहने गए कपड़ों का दोबारा उपयोग धोने के बाद अच्छी तरह धूप में सूखाकर ही करें।

➡️ कटनी एवं दौनी के समय नाक एवं मुँह को ढकने के लिए मास्क का उपयोग करें। जीविका समूह के द्वारा तैयार मास्क का उपयोग किया जा सकता है।

➡️ अगर किसी व्यक्ति को सर्दी, जुकाम, सरदर्द, बुखार के लक्षण हों तो उन्हें कदापि कटाई एवं दौनी कार्य में नहीं लगायें तथा बीमार व्यक्ति की सूचना निकट के स्वास्थ्य कर्मी को दें।

➡️ खेत में एवं थ्रेशिंग फ्लोर पर पर्याप्त मात्रा में पानी एवं साबुन की व्यवस्था रखें।

➡️ सावधानी ही कोविड-19 (करोना) के संक्रमण से बचे रहने का सर्वश्रेष्ठ उपाय है। केन्द्र एवं राज्य सरकार द्वारा समय-समय पर दिए निर्देशों का शत-प्रतिशत अनुपालन करें।

➡️ फसल कटनी के उपरांत फसल अवशेष को जलाना नहीं है। उसका उचित प्रबंधन करें।,

कृषि विभाग,बिहार सरकार ||

आज हम DBT Agriculture Bihar gov in पोर्टल पर स्टेप बाई स्टेप kisan registration किसान रजिस्ट्रेशन की जानकारी देगें और उसमें मौजूद हर एक आप्शन कोभी  समझेगें।

किसान रजिस्ट्रेशन के लिए आवश्यक दस्तावेज/ Required Document For kisan registration

किसान रजिस्ट्रेशन के लिए कुछ आवश्यक दस्तावेज की जरुरत होती है आज हम आपको बतायेगे की किन दस्तावेजो कि जरुरत होती है तो आईये जानते है-

  • आधार कार्ड
  • मोबाईल नं0 जो कि आधार कार्ड से लिंक हो क्योंकि Kisan Registration के समय उसी नंबर पर ओटीपी आयेगा।
  • किसी भी बैंक खाता का विवरण जैसे खाता संख्या,आईएफएससी कोड आदि विवरण

ONLINE KISAN REGISTRATION DBT AGRICULTURE /बिहार किसान पंजीकरण ऑनलाइन ।

किसान आंनलाईन पंजीकरण करने के लिए आपकों किसी कामन सर्विस सेंटर पर जाकर ही करना होगा आप खुद इसे नही भर सकते है क्योंकि इसके लिए आपको बांयोमिट्रिक डिवाईस की आवश्यकता होगी

✔️ किसान रजिस्ट्रेशन के लिए सबसे पहले DBT Bihar के आधिकारिक वेबसाइट । dbtagriculture.bihar.gov.in पर जाएं जाने के लिए

✔️ वेबसाईट के होम पेज पर मेनू में पंजीकरण का आप्शन मिलेगा उस पर क्लिक करें

✔️ पंजीकरण आप्शन पर क्लिक करने पर जो पेज खुलकर सामने आयेगा वे आप्शन है – पंजीकरण करें,पंजीकरण जाने,पावती प्रिंट करें

✔️ पंजीकरण करने के लिए – पंजीकरण करें आप्शन पर क्लिक करें

✔️ जैसे ही आप  आप्शन पर क्लिक करेंगे आपके सामने तीन विकल्प खुलेगे जो कि इस प्रकार है

DEMOGRAPHIC + OTP

DEMOGRAPHIC + BIO-AUTH

IRIS (working)

✔️ उपर दिये गये तीनो आप्शन में आप पहले को ही चुने क्योंकि इस आप्शन के जाने पर आपको केवल फिंगर प्रिंट एवं मोबाईल नंबर जिस पर ओटीपी आयेगा

✔️ जैसे ही आप पहले आप्शन पर क्लिक करेंगे वैसे ही आप से आपका आधार नम्बर मागां जाय़ेगा जिसे वेरीफाई करने के बाद ही आप आगे का प्रासेस कर पायेगें।

✔️ Authenticate करने के लिए आपको Authenticate बटन पर क्लिक करें वैसे ही आप के रजिस्टर्ड मोबाईल नं0 पर एक ओटीपी आयेगा उसे भरने के बाद वैलिडेट ओटीपी पर क्लिक करें

✔️ अब आपके सामने तीन विकल्प दिखायी देगें जो कि इस प्रकार है किसान पंजीकरण,विक्रेता पंजीकरण,आनलाईन अनुज्ञाप्ति प्रमाण पत्र

✔️ उपर दियेगये तीनो आप्शन में से किसान पंजीकरण को चुने जैसे ही आप उसे क्लिक करेंगे वैसे ही आपके सामने एक फार्म खुल के आयेगा उसमें पूछी गयी सभी जानकारी आपको सही सही भरनी है।

✔️ फार्म को पूरी भरनेके बाद फार्म को सबमिट कर दें  एक बार सबमिट करने से पहले पूरी तरह जांच लें।

✔️ जैसे ही आप इस फॉर्म को सबमिट करते हैं आपके सामने किसान रजिस्ट्रेशन नंबर(kisan registration number) आ जाता है इस किसान रजिस्ट्रेशन नंबर को आप कहीं पर लिखकर सुरक्षित रख लें । क्योंकि यही आपका किसान संख्या(farmer ID) या किसान रजिस्ट्रेशन संख्या(kisan registration number) है ।

किसान ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन बिहार – Farmer Registration Bihar के फार्म को कैसे अपडेट करें

यदि आपने dbt agriculture bihar के तहत आपना रजिस्ट्रेशन कर लिया हैऔर उसमें कुछ त्रुटियों को सुधार करना चाहचे है तो नीचे दिये गये स्टेप को फालोकरें

  • सबसे पहले लाभार्थी को DBT Bihar की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा । Agriculture Department Bihar वेबसाइट पर जाने के लिए यहां क्लिक करें ।
  • DBT Bihar पर जाते ही आपके सामने इसका Home Page खुलकर आ जाएगा Home Page पर आपको विवरण संशोधन का एक ऑप्शन देखने को मिलेगा ।
  • इस विवरण संशोधन के ऑप्शन पर आपको क्लिक करना होगा , जैसे ही आप विवरण संशोधन पर क्लिक करेंगे आपके सामने एक नया पेज खुल कर आ जाएगा । जैसा यहां दिखाया गया है ।
  • दिये गये संशोधन फार्म में आप मोबाइल नंबर बैंक खाता संख्या में सुधार कर सकते है इसके लिए आपको Authentication आप्शन को चुनना होगा।
  • जैसे ही आप Authenticate कर देगें वैसे ही आपके सामने किसान रजिस्ट्रेशन का फार्म खुल जायेगा।जहां आप अपनी फार्म में सुधार कर सकतेहै।

डीबीटी एग्रीकल्चर बिहार संपर्क करें /DBT AGRICULTURE BIHAR CONTACT

यदि आप किसी भी योजना के बारें में जानना चाहतेहै या फिर आपको किसी भी योजना का लाभ मिलने में समस्या हो रही हैतो आप नीचे दिये गये नम्बरो से संपर्क कर सकतेहै

इन नंबरो की सहायता से आप आधार लिंक एवं बैंक एकाउंट के बारे में एवं CSC केंद् के बारेंमें भी जान सकते है।

इस नंबर से संपक्र करें-  0612223355         

KCC

KCC Loan Online Apply, किसान क्रेडिट कार्ड योजना ,KCC के लाभ

KCC Full Form | KCC Online | Kishan Credit Card | Kishan Credit Card Online Apply | Kishan Credit Card Scheme

KCC Loan Online Apply: KCC-किसान क्रेडिट कार्ड योजना का शुभारम्भ वर्ष 1998 में भारतीय बैंकों द्वारा किया गया था। कृषि जरूरत जैसे – बीज, उर्वरक, कीटनाशक दवाइयां, आदि हेतु किसानो को ऋण उपलब्ध कराने के उद्देश्य से राष्ट्रीय कृषि और ग्रामीण विकास बैंक (NABARD) द्वारा R.V.GUPTA समिति ने KCC मॉडल योजना तैयार किया था।

किसान क्रेडिट कार्ड योजना के तहत किसानों को तत्काल, अल्पकालिक ऋण प्रदान करना, सरकार का प्रमुख उद्देश्य है। जिससे किसानो को बोआई (रोपण) और कटाई के समय होने वाली आर्थिक समस्या का सामना न करना पड़े। सरकार द्वारा विभिन्न सहकारी बैंकों, सार्वजनिक क्षेत्र के वाणिज्यिक बैंकों व् ग्रामीण बैंकों में किसान क्रेडिट कार्ड की सुविधा उपलब्ध कराया गया है।

प्रधान मंत्री किसान सम्मान निधि योजना PM Kisan की सम्पूर्ण जानकारी 2020

KCC

Kishan Credit Card क्या है ?

सरकार द्वारा किसानो के हित में कई महत्वपूर्ण योजनाएं संचालित किया जा रहा है,उन् महत्वपूर्ण योजनाओ में से किसान क्रेडिट कार्ड योजना एक है। किसान क्रेडिट कार्ड योजना के अंतर्गत किसान कृषि सम्बन्धी जरूरते जैसे – कृषि यंत्र ,खाद की खरीद ,बोआई के लिए बीज ,कटाई के लिए ,कीटनाशक दवा आदि के लिए KCC Loan (कृषि ऋण ) ले सकता है। कृषि क्षेत्र से जुड़ी जरूरतों व् निदान हेतु इस योजना का शुभारंभ किसानो के लिए किया गया है। सरकार का प्रमुख उद्देश्य किसानो को आर्थिक सहायता देना तथा साहूकारो,बनिया के कर्ज प्रणाली से मुक्ति दिलाना है।

किसान क्रेडिट कार्ड योजना से जुड़ी महत्वपूर्ण तथ्य निम्नवत है –

  • इस योजना में 1.60 लाख रुपये तक के लोन बिना किसी security के किसान को प्रदान किया जाता है।
  • किसान क्रेडिट कार्ड योजना में अधिकतम 3 लाख तक KCC Loan दिया जाता है।
  • कृषि-ऋण पर सरकार द्वारा सब्सिडी भी दिया जाता है।
  • किसान क्रेडिट कार्ड योजना में कृषि ऋण के साथ फसल बीमा की अतिरिक्त सुविधा भी दी जाती है,जिससे किसानो के साथ किसी अप्रिय घटना या दुर्घटना घट जाने पर उसकी पूर्ति में सहायक हो।
  • किसान क्रेडिट कार्ड की सुविधा सभी सहकारी बैंकों, सार्वजनिक क्षेत्र के वाणिज्यिक बैंकों व् ग्रामीण बैंकों में उपलब्ध कराया गया है।

किसान क्रेडिट कार्ड योजना का उद्देश्य

सरकार का प्रमुख उद्देश्य किसानों को कृषि से संबधित ब्यय की पूर्ति हेतु पर्याप्‍त एवं समय पर ऋण की सुविधा प्रदान करना है ।इस योजना के तहत बैंकिंग प्रणाली से एकल खिड़की के माध्यम से किसानों को लचीली और सरलीकृत क्रियाविधि से ऋण उपलब्ध कराया जाता है।किसानो को निम्नलिखित आवश्यक हेतु ऋण उपलब्ध कराया जाता है –

  • फसलों की खेती के लिए ऋण
  • फसलोत्तर खर्च के लिए ऋण
  • कृषि उपज विपणन ऋण
  • किसान की घरेलू खपत आवश्यकताएं के लिए ऋण
  • कृषि से संबद्ध गतिविधियों के रखरखाव के लिए कार्यशील पूंजी के लिए ऋण
  • कृषि और संबद्ध गतिविधियों के निवेश क्रेडिट की आवश्यकता
  • फसल कटाई के उपरांत ब्यय के लिए ऋण

KCC Loan के फायदे

➡️ सरकार द्वारा किसान को 1.60 लाख रुपये तक के लोन बिना किसी सिक्योरिटी के प्रदान किया जाता है।
➡️ किसान को लोन राशि का भुगतान फसल की कटाई,बुआई व् फसल क्रय की अवधि पर या जो किसान के द्वारा निर्धारित किया गया हो,उस समय पर करना होता है।
➡️ KKC Loan के अंतर्गत किसानों को फसल बीमा की सुविधा भी प्रदान की जाती है,जिसमे स्थायी विकलांगता होने पर या मृत्यु होने पर 50,000/- रुपये तथा अन्य जोखिमों के लिए 25,000 रुपये तक प्रदान किया जाता है।
➡️ किसान क्रेडिट कार्ड के माध्यम से किसान 3 लाख रुपये तक की लोन राशि निकाल सकता है।
➡️ किसान क्रेडिट लोन किसी भी सहकारी बैंकों, सार्वजनिक क्षेत्र के वाणिज्यिक बैंकों व् ग्रामीण बैंकों से लिया जा सकता है ।
➡️KCC पर 2 प्रतिशत की सब्सिडी मिलती है और यदि किसान क़र्ज़ की राशि का भुगतान समय से कर देता है तो 3 प्रतिशत का छूट अतिरिक्त मिलती है।

KCC Loan आवेदन की पात्रता

➡️ किसान उस क्षेत्र का निवासी हो जिस बैंक से किसान क्रेडिट लोन लेने का इच्छुक हो।
➡️ किसान भूमि का स्वामी हो जिस पर खेती के लिए लोन ले रहा है।।
➡️ वे किसान भी पात्र है जो किसी अन्य की कृषि भूमि को बटाई पर लिया हो या भूमि का पट्टेदार हो।
➡️ ऐसे किसान जो स्वयं सहायता समूह या संयुक्‍त समूह के अंतर्गत आते हो।
➡️ किसान की उम्र 60 वर्ष से अधिक होने की अवस्था में सह-आवेदक का होना अनिवार्य है।

किसान क्रेडिट कार्ड में लगने वाले दस्तावेज

➡️ आवेदक के जमीन की नक़ल व् खसरा- खतौनी
➡️ आवेदक का आधार कार्ड व् पैन कार्ड
➡️ आवेदक की फोटो व् मोबाइल नंबर
➡️ आवेदन फॉर्म
➡️ अलग-अलग बैंको में कागजात सम्बंधित दिशा निर्देश भिन्न होते है,अतः बैंक जिस भी कागजात की मांग करता है किसान को देना होगा।

KCC Loan Online Apply कैसे करे ?

➡️ सर्वप्रथम अपने क्षेत्र के बैंक की ऑफिसियल वेबसाइट पर क्लिक करे। उसके बाद किसान क्रेडिट कार्ड सेक्शन में जाकर आवेदन फॉर्म डाउनलोड करके प्रिंटआउट ले ले।
➡️ आवेदन फॉर्म में आवेदक अपना सम्पूर्ण विवरण को भरकर व् आवश्यक दस्तावेजों के साथ जमा करे।
➡️ ऋण सम्बंधित अधिकारी आवेदक के साथ जानकारी साझा करेगा।
➡️ ऋण की राशि मंजूर होते ही KCC कार्ड भेज दिया जाएगा।
➡️ KCC कार्ड प्राप्त करने के बाद किसान ऋण राशि का उपयोग शुरू कर सकता हैं।

किसान क्रेडिट ऋण राशि का निर्धारण

  • पहले वर्ष के लिए अल्‍पावधि ऋण सीमा प्रदान की गई है जो फसल पद्धति और वित्‍त के मान के अनुसार उगाई गई फसलों पर आधारित होगी।
  • दूसरे और आगे के वर्ष के लिए ऋण की सीमा 10% की दर से बढ़ा दी जाएगी।
  • भूमि विकास, लघु सिंचाई, कृषि उपकरण की खरीद हेतु निवेश के लिए मीयादी ऋण होता है। बैंक कृषि और संबद्ध गतिविधियों, आदि, के लिए मीयादी पूंजी सीमा हेतु ऋण की मात्रा का निर्धारण,पूर्व से ही खेत पर की जा रही संबद्ध गतिविधियों, किसान पर मौजूदा ऋण दायित्वों सहित कुल ऋण भार की तुलना में देय क्षमता के संबंध में बैंक के निर्णय के आधार पर कर सकते हैं।
  • पांचवें वर्ष के लिए अल्पावधि ऋण सीमा में अनुमानित दीर्घकालिक ऋण की आवश्यकता जोड़ने पर अधिकतम अनुमत सीमा प्राप्त होगी।

किसान क्रेडिट कार्ड पर ब्याज का निर्धारण

➡️ किसान क्रेडिट कार्ड के लोन पर सरकार ब्याज पर 2 प्रतिशत की सब्सिडी छूट देगी।
➡️ यदि किसान KCC Loan का भुगतान निर्धारित समय से या समय से पूर्व करता है तो उसे 3 प्रतिशत की अतिरिक्त छूट प्रदान की जाएगी।
➡️ फलस्वरूप किसान को मात्र 4 प्रतिशत का भुगतान करना होगा।

KCC Loan की वैधता

➡️बैंक केसीसी लोन की वैधता किसान की आवधिक समीक्षा के आधार पर निर्धारित करती हैं।
➡️समीक्षा के परिणामस्‍वरूप किसान को लोन की सुविधा आगे जारी रखी जाएगी या वैधता रद्द की जाएगी का निर्णय बैंक करती है।
➡️प्राकृतिक आपदाओं से प्रभावित होने के कारण किसान को जब बैंक द्वारा पुनर्भुगतान की अवधि में विस्‍तार और/या पुनर्निर्धारण किया जाता है तो परिचालनों की स्थिति संतोषजनक या अन्‍यथा के रूप में आंकी जाने की अवधि विस्‍तारित राशि की सीमा के साथ-साथ बढ़ जाएगी।

KCC Loan देने वाले प्रमुख बैंक

Punjab National Bank Apply Here
Bank of Baroda Apply Here
State Bank of IndiaApply Here
Allahabad BankApply Here
ICICI BankApply Here
Bank of MaharashtraApply Here
Canara BankApply Here
Axic BankApply Here
HDFC BankApply Here
Union Bank of India Apply Here
Baroda Gramin Bank Apply Here

किसान क्रेडिट कार्ड योजना की UPDATE जानकारी

➡️ मत्स्य पालन और पशुपालन करने वालो को भी किसान क्रेडिट कार्ड योजना में शामिल के लिया गया है।
➡️ भारतीय रिजर्व बैंक ने घोषणा के अनुसार-किसान क्रेडिट कार्डधारक घरेलू जरूरतों के लिए 10% धनराशि का उपयोग कर सकते हैं। COVID-19 लॉकडाउन के दौरान किसानों को राहत देने के उद्देश्य से इस योजना का विस्तार किया गया है ।
➡️ RBI ने बैंकों से किसानों के लिए ब्याज सबमिशन और प्रॉम्प्ट रीपेमेंट इंसेंटिव बढ़ाने के लिए कहा,यह सुविधा 3 लाख या उससे कम का ऋण लेने वाले किसानो को दिया जायेगा ।
➡️ मौजूदा शार्ट टर्म फसल लोन को केसीसी लोन में परिवर्तित किया जाएगा ।

FAQ

किसान क्रेडिट कार्ड योजना का क्या है?

किसान क्रेडिट कार्ड योजना के अंतर्गत किसान कृषि सम्बन्धी जरूरते जैसे – कृषि यंत्र ,खाद की खरीद ,बोआई के लिए बीज ,कटाई के लिए ,कीटनाशक दवा आदि के लिए KCC Loan (कृषि ऋण ) ले सकता है।

किसान क्रेडिट लोन की ऋण- सीमा की गणना किस आधार पर होती हैं ?

भूमि क्षेत्र, बोई गई फसल,कटाई के बाद का खर्च, घरेलू आवश्यकताएं,फसल और कृषि संपत्ति के रखरखाव के लिए आवश्यक अन्य व्यय जिसमें फसल बीमा के साथ-साथ व्यक्तिगत दुर्घटना बीमा योजना भी शामिल है।

किसान क्रेडिट कार्ड के क्या फायदे है ?

सरकार द्वारा किसान को 1.60 लाख रुपये तक के लोन बिना किसी सिक्योरिटी के प्रदान किया जाता है। किसान को लोन राशि का भुगतान फसल की कटाई,बुआई व् फसल क्रय की अवधि पर या जो किसान के द्वारा निर्धारित किया गया हो,उस समय पर करना होता है।
KKC Loan के अंतर्गत किसानों को फसल बीमा की सुविधा भी प्रदान की जाती है,जिसमे स्थायी विकलांगता होने पर या मृत्यु होने पर 50,000/- रुपये तथा अन्य जोखिमों के लिए 25,000 रुपये तक प्रदान किया जाता है।

किसान क्रेडिट कार्ड के आवेदन में कौन से दस्तावेज लगते है ?

आवेदक का आधार कार्ड, पैन कार्ड, फोटो ,जमीन की नक़ल व् खसरा- खतौनी व् मोबाइल नंबर,आवेदन फॉर्म आदि।

KCC Loan पर सरकार कितनी सब्सिडी देती है ?

KCC Loan पर 2% की सब्सिडी सरकार द्वारा प्रदान किया जाता है।

किसान क्रेडिट कार्ड की वैधता कितनी है ?

किसान क्रेडिट कार्ड की वैधता 5 वर्ष है,जो बैंको की समीक्षा पर आधारित होती है।

KCC Loan आवेदन की पात्रता क्या है?

➡️किसान उस क्षेत्र का निवासी हो जिस बैंक से किसान क्रेडिट लोन लेने का इच्छुक हो।
➡️ किसान भूमि का स्वामी हो जिस पर खेती के लिए लोन ले रहा है।।
➡️ वे किसान भी पात्र है जो किसी अन्य की कृषि भूमि को बटाई पर लिया हो या भूमि का पट्टेदार हो।
➡️ ऐसे किसान जो स्वयं सहायता समूह या संयुक्‍त समूह के अंतर्गत आते हो।
➡️ किसान की उम्र 60 वर्ष से अधिक होने की अवस्था में सह-आवेदक का होना अनिवार्य है।

किसान क्रेडिट लोन किस बैंक से मिलता है ?

किसान क्रेडिट लोन की सुविधा सभी सहकारी बैंकों, सार्वजनिक क्षेत्र के वाणिज्यिक बैंकों व् ग्रामीण बैंकों में उपलब्ध कराया गया है।

atal-pension-yojana-scheme

Atal Pension Yojana,APY Scheme Benefits पीएम अटल पेंशन योजना लांगिन

Atal Pension Yojana Online Apply | पीएम अटल पेंशन योजना आवेदन | APY Form | Atal Pension Yojana Chart

दोस्तो आज के लेख में वृद्धावस्था में आय से संबन्धित योजना के  बारे में व्याख्या से बतायेगें। अटल पेंशन योजना के अंतर्गत इस लाभार्थियो को 60 वर्ष की आयु होने के बाद 1 हजार से लेकर – 5 हजार रुपये तक की पेंशन के रुप में प्रतिमाह दी जायेगी।

Pradhan Mantri Jan Arogya Yojana (PMJAY)

atal-pension-yojana-scheme
पीएम अटल पेंशन योजना

NSSO के द्वारा 2011-12 में किये गये सर्वे के अनुसार 47.29 करोड़ है। सरकार असंगठित क्षेत्र में श्रमिकों प्रोत्साहित करने के लिए 2010-11 में स्वावलंबन योजना की शुरुआत किया लेकिन उस योजना में पेंशन की कोई गारंटी न होने के कारण बंद कर दिया गया।

अटल पेंशन योजना
Atal Pension Yojana (APY)

असंगठित क्षेत्रों में काम कर रहे लोगों को बुढ़ापे में पेंशन की सुविधा मिल सकें इसके लिए केंद्र सरकार ने Atal Pension Yojana(APY)-अटल पेंशन योजना शुरू की है।

जैसा कि सरकारी संस्थाओं में काम करने वालों को सेवानिवृति ने बाद प्रति माह कुछ राशि पेंशन के तौर पर मिलती है, लेकिन असंगठित क्षेत्रों में काम करने वालों को ऐसी सुविधा नही मिल पाती।

इसलिए केंद्र सरकार ने मई 2015 में Atal Pension Yojana के नाम से एक ऐसी योजना चलाई है, जिसकी मदद से आप अपने बुढ़ापे को सुरक्षित बनाने के लिए अभी से निवेश कर सकते हैं और बुढ़ापे में पेंशन पा सकते हैं।

यदि आप भी Atal Pension Yojana(APY) Benefits का लाभ पाना चाहते हैं और इस योजना से जुड़ी पूरी जानकारी पाना चाहते हैं तो यह आर्टिकल पूरा पढ़ें, जिसमें हम आपको बताएंगे कि किस तरह से इस योजना का लाभ पा सकते हैं।

Indane Gas Booking Online

अटल पेंशन योजना क्या है?Atal Pension Yojana Details

अटल पेंशन योजना एक ऐसी योजना है जो असंगठित क्षेत्रों में काम करने वाले लोगो जैसे ड्राइवर, नौकर, मजबूर, मिस्त्री आदि को 60 वर्ष के बाद एक निश्चित मात्रा में पेंशन देने का कार्य करती है।

योजना सुनिश्चित करती है कि बुढ़ापे में अपनी आर्थिक जरूरतों के लिए किसी और पर निर्भर न होना पड़े।

अटल पेंशन योजना पूर्व में चल रही स्वावलंबन योजना की जगह लाई गई है। स्वाबलंबन योजना भी इस योजना की तरह ही थी लेकिन फिर भी लोगो के द्वारा उसे कम स्वीकार्य किया गया था।

Atal Pension YojanaAPY Chart  

अटल पेंशन स्कीन से मुख्य बिन्दु

  • इस योजना का लाभ पाने के लिए योजना के साथ जुड़ना होगा और प्रति माह कुछ पैसे तब तक जमा करते रहना है जबकि की लाभार्थी की आयु 60 वर्ष न हो जाए।
  • 60 वर्ष के बाद लाभार्थी को 1000 रु से लेकर 5000 रु तक कि पेंशन प्रतिमाह मिल सकेगी। इस योजना की सबसे खास बात यह है कि लाभार्थी की यदि 60 वर्ष के पहले मृत्यु हो जाती है तो पेंशन की राशि पत्नी/पति को मिलने लगेगी।
  • यदि पत्नी चाहे तो बचे हुए वर्षों तक किश्त जमा कर सकती है और किश्त पूरी होने के बाद लाभ लेना शुरू कर सकती है या फिर लाभार्थी की मृत्यु के बाद ही वह लाभ लेना शुरू कर सकती है।
  • पति-पत्नी दोनों की मृत्यु होने के बाद पेंशन की राशि नॉमिनी को मिलने लगेगी।

अटल पेंशन योजना की उम्र सीमा.

अटल पेंशन योजना की सबसे खास बात यह है कि इसमें 18 वर्ष से लेकर 39 वर्ष तक के व्यक्ति शामिल हो सकते हैं। इस योजना में शामिल होने से लेकर 60 वर्ष की उम्र होने तक आपको हर माह किश्त जमा करनी होगी।

60 वर्ष बाद ही आपको यह पेंशन मिलना शुरू होगी। किश्त की राशि इस बात पर निर्भर करेगी कि आप 60 वर्ष के बाद इतनी पेंशन पाना चाहते हैं।

1000,2000,3000,4000 और 5000 रु. की अलग अलग पेंशन राशि मिलने का प्रावधान है। इस पेंशन योजना का लाभ पाने के लिए कम से कम 20 वर्ष तक निवेश करना ही होगा।

यदि कोई 18 वर्ष की उम्र में इस योजना से जुड़ता है और 5000 रु. की पेंशन चाहता है तो प्रतिमाह 210 रु किश्त जमा करनी पड़ेगी।

यदि 25 साल की उम्र में जुड़ते हैं तो 376 रु. प्रतिमाह जमा करना होगा। वही यदि 30 वर्ष की उम्र में जुड़ते हैं तो 577 रु. प्रतिमाह जमा करना पड़ेगा।

अटल पेंशन योजना के लिये आवेदन कैसे करें?

  • इस योजना का लाभ पाने के लिए अपने बैंक में या पोस्ट ऑफिस में जाएं और अटल पेंशन योजना के लिये आवेदन करें।
  • यदि किसी भी बैंक में आपका सेविंग अकाउंट नही है तो सबसे पहले अकाउंट खुलवाएं फिर योजना के लिए आवेदन करें।
  • यदि आप इंटरनेट बैंकिंग उपयोग करते हैं तो अपने सेविंग अकॉउंट में ऑटो डेबिट की सुविधा चालू कर दें। इससे योजना की किश्त खुद ही जमा हो जाया करेगी और यह तब तक होती रहेगी जब तक आप 60 वर्ष के नही हो जाते।

अटल पेंशन योजना का लाभ पाने के लिए जरूरी योग्यता

  • भारत का नागरिक हो
  • आवेदक की उम्र 18 से 40 वर्ष के बीच हो।
  • आवेदक का चालू Bank Account हो।

अटल पेंशन योजना के लाभ

  • किश्त मासिक, त्रैमासिक या अर्धवार्षिक जमा कर सकते हैं।
  • 1000 से 5000 तक की पेंशन लेने का विकल्प है।
  • 60 वर्ष के पहले या बाद में लाभार्थी की मृत्यु के बाद उसके पति या पत्नी को पेंशन मिलेगी।
  • Net Banking से भी किश्त जमा कर सकते हैं।

आवश्यक जानकरी

किश्त न जमा करने पर पेनाल्टी.

लाभार्थी जो पैसा जमा करेंगे उसी से प्रतिवर्ष कुछ पैसा मेंटेनेंस चार्ज के तौर पर काटा जाएगा। यदि आपके अकाउंट में किसी कारणवश पैसा नही है तो अकॉउंट तुरंत बंद हो जाएगा।

यदि ऐसी ही स्थिति लगातार 6 माह तक बनी रही तो आपके पेंशन की राशि रोक दी जाएगी। वही यदि स्थिति 12 माह तक यही स्थिति बनी रहती है तो अकॉउंट पूरी तरह से निष्क्रीय हो जाएगा जबकि 24 महिने के बाद इसे पूरी तरह से बंद कर दिया जायेगा।

किश्त देरी से जमा करने पर भी पेनाल्टी लगेगी। यदि आपकी किश्त 100 रु. प्रतिमाह है तो पेनाल्टी 1 रु. लगेगी। 101-500 रु. की किश्त पर 2 रु. 501-1000 रु. की किश्त पर 5 रु. और 1001 से ऊपर की किश्त पर 10 रु. पेनाल्टी लगेगी।

60 वर्ष के बाद किश्त कैसे ले?

 जब आपकी उम्र 60 वर्ष हो जाती है तभी से पेंशन मिलना शुरू हो जाती है। आपको बस एक बार उस बैंक या पोस्ट ऑफिस में जाना होगा जहाँ आप इस योजना के लिए रजिस्टर्ड हैं।

वहाँ पेंशन पाने के लिए एक आवेदन करना होगा जिसके बाद पेंशन शुरू हो जाएगी। यदि अपने पति या पत्नी की मृत्यु हो गई है तो आपको उनकी पेंशन लेने का अधिकार है।

इस योजना से बाहर निकलने के लिए क्या करें?

एक बार अटल पेंशन योजना का हिस्सा बनने के बाद कुछ विशेष परिस्थितियों में ही बाहर निकला जा सकता है।

  • इस योजना से बाहर निकलने का वैसे तो कोई प्रावधान नही है, पर यदि लाभार्थी की मृत्यु हो जाती है, या किसी गंभीर बीमारी से ग्रसित है तो ही योजना से बाहर निकला जा सकता है।
  • यदि आप समय से पूर्व इस योजना से किसी कारणवश बाहर निकलते हैं तो आपको उतना पैसा वापस मिल जाएगा जो किश्त के तौर पर बैंक में जमा किये है।
  • लेकिन सरकार की तरफ से जो योगदान राशि आपको 60 वर्ष के बाद मिलती वह नही मिलेगी।

अटल पेंशन योजना बुढ़ापे में आर्थिक सुरक्षा देने वाली एक अच्छी योजना है, जिसका लाभ लेने में देरी न करें।

National Scholarship Portal 2.0 (NSP) 2021 Login & Registration 

महत्वपूर्ण लिंक

Atal Pension Yojana Details in Englishक्लिक करें

indane-gas-booking

Indane Gas Booking Online 2021,इंडेन गैस बुकिंग कैसे बुक करें

Indane Gas Booking Online | इंडेन गैस सिलेंडर ऑनलाइन बुकिंग | Indane Gas Booking Number

दोस्तो ‘डिजिटल इंडिया’ में बहुत सारी सरकारी सर्विसेज डिजिटल तरीकों से होने लगी है, जिससे लोगों को अपने दैनिक जीवन में होने वाली कई असुविधाएं कम हो गई हैं। इसमें गैस सिलेंडर की बुकिंग भी शामिल है, आप इसे भी अपने फोन से घर बैठे बुक कर सकते हैं। अगर आप अभी तक ये नही जानते की Gas Cylinder Kaise Book Kare? या फिर Indane Gas Booking करने के कितने तरीके है वैसे तो इंडेन गैस बुकिंग करना काफी आसान हो गया है आज हम आपको इस बारे में सारी जानकारी प्राप्त करने के लिए इस लेख को ध्यान से पढ़ें-

जरुर पढें – National Scholarship Portal 2.0 (NSP) 2021 Login & Registration

indane-gas-booking

Indane Gas Booking Online Process

Indane Gas Booking Online

इंडेन गैस देश की सबसे बड़ी कुकिंग गैस उत्पादक कंपनी है, जिसके लगभग 6 मिलियन से अधिक ग्राहक हैं।इंडेन गैस बुकिंग करने के लिए देश के नागरिको के लिए आनलाईन सुविधा प्रदान किया जिससे अब गैस को बुक करने केलिए लंबा इंतजार नही करना पड़ेगा और आप घर बैठे मोबाईल से या आनलाईन गैसे बुक कर सकते है।

Indane Gas Online Booking प्रक्रिया

Indane Gas Booking Online सिलेन्डर बुक करने के तीन तरीके है जो कि इस प्रकार है वेबसाईट के द्वारा आनलाईन रजिस्ट्रेशन के द्वारा,एसएमएस के द्वारा,मोबाईल एप के द्वारा आसानी से करा सकते है।इन सभी सुविधाओ के लिए आप को इंडेन कंपनी कि आधिकारिक वेबसाईट पर जाकर आनलाईन रजिस्टर करना पड़ेगा।

इन्डेन गैस बुकिंग नम्बर-Indane Gas Booking Phone Number

अभी 1 नवंबर 2020 को कंपनी के द्वारा यह घोषणा कि गई  है कि बुकिंग के लिए एक indane gas booking phone number की सुविधा प्रदान किया जाय।इस नम्बर के जरिये ग्राहक किसी भी समय सिलेन्डर बुक कर सकते है। इंडियन गैस बुकिंग नंबर है 7718955555.इस के माध्यम से ग्राहक अपने रजिस्टर्ड मोबाईल नम्बर से किसी भी समय सिलेन्डर बुक करा सकते है।

  • यदि ग्राहक का मोबाईल नंबर पहले से रजिस्टर्ड है तो IVRS के माध्यम से ग्राहक की कंज्यूमर आईडी जो कि 16 अंको की होगी से वेरीफाई होने के बाद रिफिल बुक कर सकते है।
  • यदि ग्राहक का मोबाईल नंबर रजिस्टर्ड नही है तो आपसे पहले 16 अंको की कस्टमर आई डी बताना होगा उसके बाद आपका मोबाईल नंबर पंजीक्रत हो जायेगा। जिससे आपका सिलिन्डर बुक हो जायेगा।

जरुर पढ़ें – Saral Portal Haryana Login & Registration

इंडेन गैस बुकिंग न्यू अपडेट

जैसे कि आप सभी लोग जानते हैं कि कई बार सिलेंडर की चोरी तथा कालाबाजारी होती है और कई बार ऐसा भी होता है कि सिलेंडर किसी गलत कस्टमर के पास पहुंच जाता है। इसी बात को ध्यान में रखते हुए 1 नवंबर 2020 से सिलेंडर की डिलीवरी पर आपको आपके फोन पर आया हुआ ओटीपी डिलीवरी एजेंट के साथ शेयर करना होगा। तभी आपको गैस की डिलीवरी मिलेगी। इस पूरी प्रक्रिया को डिलीवरी ऑथेंटिकेशन प्रोसेस/ डिलीवरी ऑथेंटिकेशन कोड का नाम दिया गया है। इस बदलाव से संबंधित महत्वपूर्ण जानकारियां कुछ इस प्रकार है।

  • डिलीवरी ऑथेंटिकेशन कोड सर्वप्रथम देश की 100 स्मार्ट सिटीज में आरंभ किया जाएगा।
  • इस योजना का पायलट प्रोजेक्ट जयपुर, राजस्थान में चलाया जा रहा है।
  • इस नए बदलाव के अंतर्गत सिर्फ सिलेंडर बुक करने के बाद डिलीवरी नहीं की जाएगी। कस्टमर को अपने रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर आया हुआ ओटीपी डिलीवरी एजेंट के साथ शेयर करना होगा तभी उन्हें सिलेंडर की डिलीवरी मिलेगी।
  • 100 स्मार्ट सिटीज में इस योजना को सफलतापूर्वक चलाई जाने के बाद देश के दूसरे शहरों में भी इस योजना को चलाया जाएगा।
  • यह बदलाव कमर्शियल सिलेंडर के लिए नहीं किया गया है।
  • आप सभी से निवेदन है कि यदि आपकी डिटेल जैसे कि एड्रेस, मोबाइल नंबर आदि गलत है तो आप उसे सही करवा ले। नहीं तो आपको कठिनाइयों का सामना करना पड़ेगा।
  • यदि आपका मोबाइल नंबर गैस एजेंसी के पास अपडेटेड नहीं है तो डिलीवरी एजेंट आपका नंबर डिलीवरी के समय गैस एजेंसी के साथ एक ऐप के माध्यम से अपडेट कर देगा। जिसके पश्चात आपके पास एक कोड आएगा। जो आपको डिलीवरी एजेंट के साथ शेयर करना होगा।

इंडियन गैस को आप कितने तरीके से  बुक कर सकते है

आज हम आपको Indane gas booking Type के बारें में बतायेगें जो कि निम्नलिखित है-

  • सबसे पहले तो आप उस एजेंसी से जाकर  सीधे तौर पर ले सकते है जहां से आपने अपना कनेक्शन लिया है।
  • Indane Gas Booking App के माध्यम से
  • फोन से भी बुक कर सकते है
  • इसकी आफिसियल वेबसाईट के द्वारा बुक कर सकते है।
  • SMS के द्वारा भी बुक कर सकत है।

मोबाईल एप के माध्यम से गैसे सिलिन्डर बुक कैसे करें

इस एप में मोबाईल नम्बर से एकाउंट बनाना होगा और फिर एलपीजी का आईडी नंबर डालकर उसे लिंक करना होगा एलपीजी का आईडी नंबर लिंक होने के बाद बुकिंग एवं पेमेंट दोनो ही संभव होगा। गैस सिलिंडर के रेट कब बढ़ें एवं घटे या रिफिल कब कब कराई है।

Step-1: सबसे पहले आप अपने मोबाईल फोन के प्ले स्टोर में जाकर ‘IndianOil One’ सर्च करें उसके बाद ‘Install’ पर क्लिक करके इसे इंस्टाल करें

Step-2: एप को डाउनलोड करने के बाद आपको एक यूजर आईडी एवं पासवर्ड जनरेट करके उसी से लांगिन करें

Step-3: लागिन करने के बाद आपको ‘आर्डर सिलिंडर’ के आप्शन में जाकर बुक कर सकते है

SMS के द्वारा गैस सिलिंडर बुकिंग कैसे करें (Step By Step)

Step -1: Register Your Mobile Number
एसएमएस के द्वारा गैस सिलिन्डर बुक करने के लिए सबसे पहले उपभोक्ता को अपना मोबाईल नम्बर रजिस्टर करना पड़ेगा।

Step-2: Send Your Messages
अपने मोबाईल के एसएमएस बाक्स में जाकर नीचे दिये गये प्रकिया के द्वारा टाईप करें-

<Type Gas Agency Name(HP,Indane,Bharat)><Space>< डिस्ट्रीब्यूटर का फोन नम्बर एसटीडी कोड के साथ><Customer Phone Number>

इसे आप Indane Gas Booking Contact Number या अपने गैस वितरक के नंबर पर भेज दीजिये

Step-3: यदि आप की बुकिंग सुनिश्चित हो गयी तो आपके रजिस्टर्ड नम्बर पर बुकिंग नम्बर का एक एसएमएस के माध्यम से प्राप्त हो जायेगा।

फोन के माध्यम से गैस कैसे बुक करें – Indane Gas Refill Booking Through Phone

आप एक काल के माध्यम से भीघर बैठें गैस बुक कर सकते है तो आईये जानते है इस प्रक्रिया के बारे में

Step-1: रजिस्टर्ड मोबाईल नम्बर से आपके अपने शहर के आईवीआर नम्बर पर कांल करनी पड़ेगी जो कि हर शहर के लिए अलग अलग होते है।

Step-2:आपको अपना कन्ज्यूमर नम्बर Enter करने के लिए कहा जायेगा।आपको अपना कंज्यूमर नम्बर आपकी ब्लू बुक में मिलेगा।

Step-3: उसके बाद अपनी भाषा के चुनाव के लिए कहा जायेगा

Step-4: अब आपको आपका उपभोक्ता नम्बर दोहराया जायेगा एक बार निश्चत होने पर बुकिंग करने के आप्शन दिये जायेगे इस प्रक्रिया को पूरा करने के बाद आपकी बुकिंग स्वीकार कर ली जायेगी जिसका SMS आपके रजिस्टर्ड मोबाईल नम्बर पर आ जायेगा।

व्हाट्सएप से भी बुक कराएं रसोई गैस

रसोई गैस बुकिंग के लिए आईओसी ने काफी आसान कर दिया है। उपभोक्ता इसे अब इसे व्हाट्सएप के माध्यम से भी बुक कर सकते है और Indane Gas Booking Status की ट्रैकिंग भी कर सकते है इस सर्विस के माध्यम से यदि कोई भी व्यक्ति अपने शहर से दूर है और सिलिंडर बुक करना चाहता है तो इसे आसानी से बुक कर सकता है यह सुविधा अभी तक नही थी।आने वाले दिनो में व्हाट्सएप के माध्यम से पेमेंट की भी सुविधा दी जायेगी

Step-1: सबसे पहले Indane Gas Whatsapp Booking Number – 7588888824 को अपने मोबाईल में सेव कर लें

Step-2: उसके बाद ‘REFILL‘ लिखकर भेजना होगा

Step-3:अब आपकी बुकिंग कंफर्म हो जायेगी और एक बुकिंग नंबर प्राप्त होगा

Step-4:अगर आपको बुकिंग स्टेटस चेक करना हैतो ‘STATUS#‘ लिख कर भेजें।

Indane Online Gas Booking अफिसियल वेबसाईट के द्वारा कैसे करें

जो भी उपभोक्ता इंडेन गैस बुकिंग ऑनलाइन करना चाहते है तो वे नीचे दिये गये स्टेप को फालो करें

Step-1: सबसे पहले इन्डियन आयल कारपोरेशन की अधिकारिक वेबसाईट पर क्लिक करें

Step-2: जो आपके सामने होम पेज Place Order Online सेक्शन के Online आप्शन पर क्लिक करें

Step-3: लांगिन फार्म खुलेगा जहां आप अपने यदि आप नये यूजर है तो Register Now आप्शन पर क्लिक करे ।

Step-4: अब आपके सामने एक रजिस्ट्रेशन फार्म खुलेगा जहां आप अपनी आवश्यक जानकारी भरें।

Step-5: सभी जानकारी भरने के बाद प्रोसीड बटन पर क्लिक करे उसके बाद यूजर आई डी और पासवर्ड आपको रजिस्टर्ड मोबाईल नम्बर पर प्राप्त होगा।

Step-6: लागिन करने के बाद जो पेज खुलेगा उसके Book Your Cylinder में जाकर आप्शन चुने उसके बाद Book Now पर क्लिक करें

Step-7: बुकिंग निश्चित होने के बाद आपके रजिस्टर्ड मोबाईल पर SMS के द्वारा सारी जानकारी प्राप्त हो जायेगी।

सभी शहरो के लिए इंडियन गैस बुकिंग नंबर लिस्ट

StateIVRS Number
Andhra Pradesh7718955555
Bihar7718955555
Chandigarh7718955555
Delhi7718955555
Gujarat7718955555
Haryana7718955555
Jammu and Kashmir7718955555
Jharkhand7718955555
Karnataka7718955555
Kerala7718955555
Madhya Pradesh7718955555
Maharashtra7718955555
Odisha7718955555
Punjab7718955555
Rajasthan7718955555
Tamil Nadu7718955555
Telangana7718955555
Uttar Pradesh7718955555
West Bengal7718955555

जरुर पढ़ें-Ayushman Bharat Yojana – प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना (PMJAY)

इंडियन गैस बुकिंग हेल्पलाइन नंबर

यदि किसी भी उपभोक्ता को Indane Gas Refill Booking Online करने में या रजिस्ट्रेशन करने मेंकिसी भी प्रकार की समस्या हो रही है तो उसके समाधान के लिए आप नीचे दिये गये इंडियन गैस बुकिंग हेल्पलाइन नंबर पर संपर्क कर सकते है।

  • टोल फ्री नंबर: 1800-2333-555
  • LPG Emergency Helpline: 1906

FAQ’s

How to book Indane Gas Online?

you can book indane Gas Online using these ways – By whatsapp,SMS,Official Website and Phone.

How to Check Indane Gas Booking Status?

You can check your Indane gas booking status through IVRS, SMS, online, or even through the mobile app.

How to pay Indane Gas Bill Online?

You can pay Indane Gas Bill Online using mobile app,by UPI or Netbanking.