Operation Green Scheme केंद्र सरकार के द्वारा शुरू किया गया। केंद्र सरकार ने 2018-19 के बजट भाषण में ऑपरेशन फ्लड की तर्ज पर 500 करोड़ रुपए की लागत से ऑपरेशन ग्रीन्स योजना शुरू करने की घोषणा की गई थी । मंत्रालय ने टमाटर, प्याज एवं आलू (टॉप) की मूल्य श्रृंखला के एकीकृत विकास के लिए एक योजना का निरूपण किया ।किसान उत्पादक संगठनों, कृषि-रसद, प्रसंस्करण सुविधाओं और व्यावसायिक प्रबंधन को बढ़ावा देने के उद्देश्य से इस योजना का शुभारम्भ किया गया है।

मेरे प्रिय दोस्तों ऑपरेशन ग्रीन्स योजना क्या है ,इस योजना के फायदे क्या है ? की विस्तृत जानकारी के लिए इस लेख को अंत तक अवश्य पढ़े।

प्रधानमंत्री घर तक फाइबर योजना हिंदी में

Operation Green

Operation Green Scheme क्या है ?

ऑपरेशन ग्रीन योजना को केंद्र सरकार ने बजट 2018-19 के दौरान प्रस्तुत किया था ,जिसका प्रमुख उद्देश्य देश के प्रत्येक राज्य में साल भर मूल्‍यों में बिना परिवर्तन के किये टमाटर, प्‍याज और आलू की आपूर्ति और उनकी उपलब्‍धता लोगो तक सुनिश्चित करना मात्र था।इस योजना के माध्यम से सरकार किसानो की आर्थिक मदद के साथ उनके द्वारा उत्पादित फलो -सब्जियो को देश के प्रत्येक राज्यों तक वितरण की सुविधा उपलब्ध कराएगा।
इस योजना के मुख्य तथ्य –

  • ऑपरेशन फ्लड की तर्ज पर 500 करोड़ रुपए की लागत से ऑपरेशन ग्रीन्स योजना शुरू किया गया।
  • किसान उत्पादक संगठनों, कृषि-रसद, प्रसंस्करण सुविधाओं और पेशेवर प्रबंधन को बढ़ावा दिया जायेगा।
  • मूल्‍य स्थिरीकरण उपाय को लागू करने में नैफेड शीर्ष एजेंसी को सौपा गया।
  • खाद्य प्रसंस्‍करण उद्योग मंत्रालय द्वारा 50 % सब्सिडी किसानो को दिया जायेगा।

ऑपरेशन ग्रीन योजना का UPDATE

➡️ भारत के वित्त मंत्री ने बजट 2021 में कृषि और संबद्ध उत्पादों में मूल्य वृद्धि व् उनके निर्यात को बढ़ावा देने के उद्देश्य से ऑपरेशन ग्रीन योजना का दायरा बढ़ाते हुये इस योजना में 22 नए उत्पादों को सम्मलित करने की घोषणा की है।वर्तमान में ऑपरेशन ग्रीन योजना के तहत केवल टमाटर, प्याज, आलू (TOP) ही शामिल हैं।
➡️ जुलाई 2020 में, सरकार ने किसानों और प्रसंस्करण-कर्ताओं को मौजूदा ‘ऑपरेशन ग्रीन्स’ के तहत 18 अन्य फलों और सब्जियों के उत्पादन क्षेत्रों से प्रमुख उपभोग केंद्रों तक परिवहन और भंडारण पर 50 % सब्सिडी का लाभ देने की घोषणा की थी।
➡️ इससे पूर्व वर्ष में, खाद्य प्रसंस्करण मंत्रालय ने आत्मनिर्भर भारत के अंतर्गत पायलट परियोजना के तहत ऑपरेशन ग्रीन योजना को छः माह के लिए टमाटर, प्याज और आलू के अतिरिक्त सभी फलों और सब्जियों तक विस्तारित किया था।

Operation Green Mission का उद्देश्य

  • किसान उत्पादक संगठनों, कृषि-रसद, प्रसंस्करण सुविधाओं और पेशेवर प्रबंधन को बढ़ावा देने के लिए इस योजना को शुरू किया गया है।
  • टमाटर, प्याज एवं आलू (टॉप) का उत्पादन करने वाले किसानों को बाजार से जोड़ने व् किसानों को मिलने वाले मूल्य में वृद्धि करना।
  • देश के प्रत्येक राज्यों में रहने वाले परिवारों तक टमाटर ,प्याज ,आलू सब्जियाँ वर्ष भर उपलब्ध कराना।
  • देश के सभी उपभोक्ताओं के लिए मूल्य स्थिरीकरण करना।
  • मांग और आपूर्ति से सबंधित आकड़े एकत्र करके एक सामान बाजार हेतु सूचना नेटवर्क की स्थापना करना।

Operation Green Scheme के फायदे

इस योजना के अंतर्गत होने वाले लाभ –

  • इस योजना के माध्यम से टमाटर, प्‍याज और आलू की कीमतों में स्थिरता आएगी।
  • परिवहन और भंडारण पर 50 % सब्सिडी मिलने से उत्पादन व् आर्थिक क्षेत्र में विस्तार होगा।
  • सरकार द्वारा प्रमुख उपभोग केंद्रों तक परिवहन और भंडारण पर 50 % सब्सिडी का लाभ दिया जायेगा।
  • हर राज्यों में फलो और सब्जिओ की उपलब्धता सुनिश्चित की जाएगी ,जिससे किसानो को उत्पादन व् मूल्य सम्बंधित नुकशान को कम किया जा सके।

Operation Greens में लगने वाले कागजात

आधार कार्ड
पैन कार्ड
बिजली का बिल या वोटर कार्ड
मोबाइल नंबर

Operation Green Scheme के लाभार्थी

  • व्यक्तिगत किसान
  • खाद्य प्रसंस्करण
  • सहकारी समिति
  • निर्यातक राज्य विपरण
  • किसान उत्पादक संगठन एवं संस्था

Operation Green Mission के अंतर्गत पात्र फल -सब्जियाँ

सब्जियाँ

फ्रेंच बीन्स, करेला, बैंगन, शिमला मिर्च, गाजर, फूलगोभी, मिर्च (हरा), भिंडी, प्याज, आलू, टमाटर, बड़ी इलाइचि, कद्दू, अदरक, गोभी, हल्दी (सूखी)।

फल

आम, केला, अमरूद, कीवी, लीची, पपीता, नींबू, अन्नानास, अनार, कटहल, मौसम्बी, संतरा, किन्नू, सेब, बादाम, आंवला, पैशन फ्रूट, नाशपाती, शकरकंद, चीकू ।

Operation Green in Hindi के तहत कार्य योजना

इस योजना में मूल्य स्थरीकरण के उपाय व् एकीकृत मूल्य श्रृंखला विकास परियोजनाओं की दोहरी रणनीति पर कार्य किया जायेगा।

अल्पकालिक मूल्य स्थरीकरण उपाय

  • मूल्य स्थरीकरण उपायों के लिए नफेड, नोडल एजेंसी कार्य करेगी।
  • उत्पादन स्थल से भंडारण तक टमाटर, प्याज, आलू (टॉप) फसलों की ढुलाई और टॉप फसलों के लिए उपयुक्त भंडारण सुविधाओं को किराए पर लेने के लिए 50% सब्सिडी उपलब्ध कराया जायेगा ।

दीर्घकालिक एकीकृत मूल्‍य श्रृंखला विकास परियोजनाएं

  • किसान उत्‍पादक संगठनों की रचना और क्षमता निर्माण
  • गुणवत्‍ता उत्‍पादन
  • खेत स्‍तर पर- फसलोत्‍तर प्रसंस्‍करण सुविधाएं
  • मुख्‍य प्रसंस्‍करण स्‍थल पर- फसलोत्‍तर प्रसंस्‍करण सुविधाएं
  • कृषि लॉजिस्टिक्‍स
  • विपणन/खपत केंद्र

ऑपरेशन ग्रीन योजना में आवेदन की प्रक्रिया

  • आवेदन हेतु सर्वप्रथम Operation Green Scheme की ऑफिसियल वेबसाइट https://sampada-mofpi.gov.in/ पर क्लिक करना होगा।
  • Home page पर सब्सिडी के लिए आवेदन फॉर्म का विकल्प दिखाई देगा, उस पर क्लिक करे।
  • दिए गए Green Yojana Form में अपना समस्त विवरण भरकर व् दस्तावेज सलंग्न करके submit करे।

Important Links For Operation Green Scheme

Apply Online Click Here
Official Website Click Here

FAQ

ऑपरेशन ग्रीन योजना क्या है ?

देश के प्रत्येक राज्य में साल भर मूल्‍यों में बिना परिवर्तन के किये टमाटर, प्‍याज और आलू की आपूर्ति और उनकी उपलब्‍धता लोगो तक सुनिश्चित करना मात्र था

ऑपरेशन ग्रीन योजना का लाभ किन लोगो को मिलेगा ?

व्यक्तिगत किसान
खाद्य प्रसंस्करण
सहकारी समिति
निर्यातक राज्य विपरण
किसान उत्पादक संगठन एवं संस्था

Operation Green Mission का उद्देश्य क्या है ?

किसान उत्पादक संगठनों, कृषि-रसद, प्रसंस्करण सुविधाओं और पेशेवर प्रबंधन को बढ़ावा देना।

ऑपरेशन ग्रीन योजना में आवेदन कहाँ पर करे ?

ऑफिसियल वेबसाइट https://sampada-mofpi.gov.in पर